सुरक्षा बलों ने किया तीन नक्सलीयो को गिरफ्तार,हथियार सहित अन्य सामान बरामद  

रायपुर/कांकेर| नक्सल प्रभावित कांकेर जिले के ग्राम आलपरस के पास के जंगलों में बीएसएफ और जिला पुलिस बल की संयुक्त टीम गश्त पर निकली थी, सर्चिंग के दौरान ग्राम आलपरस के जंगल में घात लगाए नक्सलियों ने अचानक हमला कर दिया। आत्मरक्षा के लिए जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की। पुलिस टीम को भारी पड़ता देख नक्सली घने जंगल की आड़ लेकर भागने में सफल हो गए। इस दौरान तीन नक्सली सदस्यों को जवानों ने गिरफ्तार किया है। सुरक्षा बलों ने फायरिंग के बाद घटना स्थल से नक्सली साहित्य, दैनिक उपयोग के सामान जब्त किया है।

मुठभेड़ के बाद घटना स्थल का घेराबंदी कर सर्चिंग किया गया। इस दौरान नक्सली सदस्य मानकू वर्दा (25) पिता नीलकंठ, खुंटा वर्दा (23) पिता सुखराम वर्दा, टांगरू पद्दा (22) पिता जग्गु राम सभी ग्राम काकनार थाना कुरूषनार जिला नारायणपुर पकड़े गए। तीनों से पूछताछ किया जा रहा है, जिससे अहम सुराग मिलने की संभावना जताई जा रही। मुठभेड़ के बाद घटना स्थल पर एक नग भरमार बंदूक, 1 जोड़ी नक्सली वर्दी हरा रंग का, 1 नग पोच, 1 जोड़ी सीएनएम ड्रेस, 9 नग लाल पटका, 3 नग एटम बम, 42 नग छर्रा, 2 डिब्बा गन पावडर, 2 नग डेटोनेटर, 1 नग ३0३ का खाली खोखा, 1 नग इंसास का खाली खोखा, 8 बंडल रील पटाखा, 2 नग पेंसिल सेल, नक्सली साहित्य व अन्य दैनिक उपयोगी सामाग्री बरामद किया गया।

नक्सली स्मारक किया गया ध्वस्त : गश्त के दौरान डीआरजी-02 टीम द्वारा ग्राम गुंदुंल में नक्सली स्मारक को ध्वस्त किया गया। नक्सली सदस्यों के विरूद्ध थाना कोयलीबेड़ा में धारा 147, 148, 149,307 भा.द.वि, 25, 27 आम्र्स एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया। पकड़े गए तीनों नक्सली सदस्यों को उक्त अपराध में गिरफ्तार कर वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

 

error: Content is protected !!