कोरिया जिले मे 26 जनवरी का पर्व बड़े हर्षोउल्लास से मनाया गया

कोरिया जिले में गणतंत्र दिवस की 69वीं सालगिरह को गरिमामय एवं हर्षोल्लास से मनाया गया

जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर में श्रम मंत्री राजवाडे़ ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया

देशभक्ति और लोकगीतों पर स्कूली बच्चों ने दी मनोहारी प्रस्तुतियां

उत्कृष्ट कार्य करने वाले हुए सम्मानित

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया) बैकुण्ठपुर/ भारत के गणतंत्र दिवस की 69वीं सालगिरह कोरिया जिले में गरिमामय और हर्षोल्लास से मनायी गयी। जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर में प्रदेश के श्रम,खेल एवं युवा कल्याण मंत्री भईयालाल राजवाडे़ ने राष्ट्रीय ध्वज फहराकर परेड की सलामी ली तथा मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह का प्रदेश की जनता के नाम प्रेषित संदेश का वाचन किया। गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह बैकुण्ठपुर के शासकीय आदर्श रामानुज उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय के मिनी स्टेडियम में सम्पन्न हुई। इस अवसर पर राजवाडे ने प्रदेश के मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह और अपने ओर से प्रदेश सहित कोरिया जिले के नागरिकों को गणतंत्र दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजवाड़े ने सवेरे 9 बजे समारोह स्थल पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया। ध्वजारोहण के पश्चात मुख्य अतिथि द्वारा गणतंत्र दिवस परेड का निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर नरेन्द्र कुमार दुग्गा और पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला भी उनके साथ थे। राजवाडे़ ने कहा स्वतंत्रता, हमारे महान गणतंत्र का आधार है। अतः स्वतंत्रता संग्राम मेें बलिदान देने वाले अमर शहीदों को और लगातार देश की रक्षा कर रहे वीर जवानों को सलाम किया उन्होनें मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह का प्रदेश की जनता के नाम प्रेशित संदेश में भारत रत्न बाबा सहाब डाॅ.भीमराव अम्बेडकर के नेतृत्य में देश के गौरवशाली संविधान का निर्माण किया गया था। संविधान निर्माण में भी छत्तीसगढ़ की विभूतियों का अमूल्य योगदान रहा। जनता के नाम प्रेशित संदेश में उन्होनें कहा कि इतिहास में पहली बार प्राकृतिक संसाधानों और मूल्यवान खनिजों का धारण करने वाली धरती माता के सहारे जीवन बिताने वाली स्थानीय आबादी के जीवन में आशा की नई किरण जगाई है। डी.एम.एफ के माध्यम से 26 सौ करोड़ रूपए की विकास योजनाओं की मंजूरी इसका जीता जागता प्रमाण है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए 4 लाख 70 हजार कृशि पम्पों को पात्रता अनुसार 7 हजार 500 यूनिट तक एवं अनुसूचित जनजाति तथा अनुसूचित जाति के किसानों को पूर्णतः बिजली दी जा रही है। प्रधानमंत्री ने सहज बिजली हर घर योजना-सौभाग्य के माध्यम से एक वर्श के भीतर सभी घरों में बिजली पहुचाने का लक्ष्य देकर उत्साह बढाया। जिसके कारण सितम्बर 2018 तक शेष 5 लाख घरों में बिजली पहुच जायेगी। मेक इन इंडिया के तहत खाद्य प्रसंस्करण, आई.टी, आटो मोबाईल, इंजीनियरिंग, लघु वनोपज उत्पाद, रक्षा उपकरण, विनिर्माण, इलेक्ट्रानिक सेक्टर, नवीकरणीय, उर्जा उपकरण आदि को विशेष प्राथमिकता श्रेणी में रखा गया है।

 

error: Content is protected !!