बस्तर में दो-दो नक्सली घटनायें घटित होना सरकार के लिये है चुनौती: भूपेश बघेल

०० दिल्ली रवाना होने के पूर्व माना विमानतल पर प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल की पत्रकारों से चर्चा 

०० कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ नेताओं की होने जा रही है बैठक
रायपुर। आज सुबह दिल्ली रवाना होने से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने माना विमानतल पर पत्रकारों से चर्चा करते हुये कहा कि आज कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ छत्तीसगढ़ की वरिष्ठ नेताओं की बैठक होने जा रही है। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में मेरी और साथियों की नियुिक्त के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल से यह हमारी पहली मुलाकात है। अपनी नियुक्ति के लिये हम सब राहुल गांधी जी को धन्यवाद देंगे। यह चुनावी वर्ष को देखते हुये पार्टी नेतृत्व से मार्गदर्शन भी लेंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद राहुल जी को छत्तीसगढ़ आने निमंत्रण भी देंगे।
कल दो-दो नक्सली हमले हुये। नक्सली घटना घटी जिसमें हमारे 4 जवान शहीद हुये 11 घायल हुये। बीजापुर जिले के बासागुड़ा में हुयी दूसरी घटना में दो जवान घायल हुये। एक साथ बस्तर में दो-दो घटनायें घटित होना सरकार के लिये चुनौती है। छत्तीसगढ़ सरकार का माओवाद पर नियंत्रण का दावा है खोखला साबित हुआ है। उससे भी ज्यादा दुर्भाग्यजनक बात यह है कि ऐसे समय में जब हमारे 4 जवान शहीद हुये है और बस्तर जाकर मुख्यमंत्री का आभार रैली, स्वागत कराना, मैं समझता हूं कि उन शहीदों के साथ अपमान जैसा व्यवहार है। शहीद के शव अभी उनके घर भी नहीं पहुंचे हैं और मुख्यमंत्री उसी बस्तर में जुलूस निकालेंगे, आभार रैली निकालेगे, मैं समझता हूं कि मुख्यमंत्री को इसे स्थगित करना चाहिये।
अभी तो बजट सत्र है, और बजट सत्र के बाद होली के बाद हम लोग जशपुर और सरगुजा जिले में पदयात्रा करेंगे। बजट सत्र की समाप्ति के बाद पदयात्रा की घोषणा करेंगे।पदमावती फिल्म को जो बनाने वाले है उन्हीं के लोग है, जो उनको सर्टिफिकेट दिये है, वो भी गर्वर्मेंट का हिस्सा है। सुरक्षा देने की जिम्मेदारी भी सरकार की है। उच्चतम न्यायालय का निर्देश होने के बावजूद भी इस प्रकार की घटनायें घट रही है चिंताजनक है। कल बच्चों के बस में जिस तरह से पथराव किया गया है बेहद दुखद है और निदंनीय है। सरकार मूल मुद्दो को भटका कर जो आम लोगो की जो समस्या है, देश की जो समस्या है। उससे लोगों का ध्यान हटाना चाह रही है। गुजरात चुनाव के समय इस प्रकार का उपयोग किया। अन्य राज्यों में चुनाव है जिस प्रकार से कार्यवाही कर रहे है ढील दी जा रही है वो बेहद चिंतनीय है। प्रधानमंत्री जी इस मामले में मौन है। जितनी घटनायें घट रही है उसमें प्रधानमंत्री जी को मौन सहमति दिखायी पड़ती है। अब जो घटनाक्रम घटित हो रहा है वो निश्चित रूप से एक भड़काने वाली घटना दिखायी देती है। इस फिल्म मुझे कोई जानकारी नहीं और ऐतिहासिक पक्ष के बारे में मुझे कोई खास जानकारी नहीं है। जो हम लोग पढ़ते है वही जानकारी है। मैं इसके बारे में कोई दावा नहीं करता।

error: Content is protected !!