पीडब्ल्यूडी का घटिया निर्माण कार्य महज दो चार माह मे ही करनी पड़ गई सड़क कि मरम्मत

खिलानंद नागे (बालोद) जिले के सड़को का बुरा हाल है। एक ओर लोक निर्माण विभाग के मंत्री राजेश मूड़त घटिया सड़क निर्माण कार्य करने वाले ठेकेदारों को खुली चुनौती देते है। कि जो घटिया सड़क निर्माण कार्य करते है। और उसकी शिकायत होती है। तो उस ठेकेदारों का लायसेंस रद्द कर दिया जाएगा। वही दूसरी ओर बालोद जिले मे बिल्कुल उल्टा मंजर दिखाई देता है। यहां शिकायत करने के बाद भी विभागीय अधिकारियों ने ठेकेदार के उपर कोई कार्यवाही नही करते जो कि समझ से परे है। आप को बता दें कि अरमरीकला से गुरूर मुख्य मार्ग पर अरमरीकला से धनेली तक सड़क निर्माण कार्य हुआ है। जिसके निर्माण मे ठेकेदार के द्वारा खुलकर घटिया सामग्री का उपयोग किया गया था। जिसके फलस्वरूप सड़क जगह जगह टूट गया बिना वाहन चले। महज 2 से 3महीने मे ही सड़क की यह हालत हो गई की ठेकेदार को जगह जगह रिपेयरिंग करनी पड़ गयी उक्त सड़क के बारे में जब हमने विभागीय अधिकारियों से जानना चाहा तो बालोद पी. डब्ल्यू. डी. के अधिकारियों ने बड़ी ही चालाकी से कह दिया कि आपके शिकायत पर हमने रिपेयरिंग करवा दिया है। जब एक जिम्मेदार आधिकारी द्वारा ठेकेदार का बचाव करते हुए रिपेयरिंग की बात कहते हुए। अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया जाए तो आप समझ सकते है। बिना सूचना बोर्ड के काम करने वाले ठेकेदार को विभागीय अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है। तभी तो नयी सड़क पर रिपेयरिंग कर डाली और विभागीय अधिकारी आज भी देख पाने मे नाकाम है। ऎसे में कैसे होगा धूल मुक्त बालोद जिले की सड़क ग्रामीणों में तरह तरह की बातें करते हुए देखा जा सकता है। आप भी आइए विभागीय अधिकारियों से सांठ गाँठ करिये नया निर्माण करिये बिना गारंटी के ये है बालोद जिला यहाँ छुट है। मनमानी करने की इस मामले मे अनुविभागीय अधिकारी से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उनका मोबाईल कवरेज से बाहर होने चलते बात नही हो पाई ।

error: Content is protected !!