कांग्रेस के चलाए  अभियान से संगठन को मिल रही मजबूती : पुनिया

०० प्रदेश के मुख्यमंत्री-मंत्री 14 साल से कर रहे विदेश यात्रा, नहीं आई एक भी विदेशी कंपनी

 ०० भाजपा सरकार ने दी है छत्तीसगढ़ के लोगों को कोल डस्ट, लोग हो रहे है बीमार

रायपुर। आज दिल्ली रवाना होने के पूर्व पत्रकारों से चर्चा करते हुये अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया ने कहा कि संगठन के द्वारा जो अभियान चलाया जा रहा है संगठन को मजबूत करने के लिये और पाराटोला, गांव, अनुभाग, बूथ कमेटियां इन चार समितियों के द्वारा तो उसके बहुत अच्छे परिणाम सामने आ रहा है। छत्तीसगढ़ की जनता में जबर्दस्त उत्साह है ही काफी दिनों से देखें पदयात्रा के माध्यम से, जनसभाओं के माध्यम से, जनअधिकार सम्मेलनों के माध्यम से जनता के बीच में कांग्रेस के प्रति बहुत अच्छा संदेश गया है और भारतीय जनता पार्टी के बारे में सब लोग जानते है, किस तरह की सरकार इन लोगों ने 14 साल से दी है और अब तो 15 वें साल में प्रवेश कर रहे है। एक तरफ मुख्यमंत्री विदेशों में घूमते है। 14 साल से विदेश में घूमने का काम कर रहे है। 14 साल में एक भी कंपनी विदेशों से आई हो, यहां पर उद्योग लगाया हो तो बतायें। अब उनको लगता है आखिरी साल है उनके जाने का, जितना भी घूमना फिरना हो कर लिया जाये।

मुख्यमंत्री और मंत्री विदेशों के दौरे कर रहे लेकिन गरीब आदमी या आदिवासी, या अनुसूचित जाति या पिछड़े वर्ग या स्थानीय निवासियों को लाभ हुआ हो, रोजगार मिला हो तो बतायें। जो यहां की कंपनियां, हिन्दुस्तान की कंपनियां उद्योग लगाती है, यहां पर प्राकृतिक संसाधन है, खनिज संपदा का भंडार, उसके दोहन के लिये जो इंडस्ट्रीज लगे है जो कर्मचारी लगे है वो बाहर से ले आयें है जो मजदूर है, कर्मचारी है बाहर से ले आये, उनमें तो यहां के लोगो को कुछ लाभ मिला नहीं। विदेश कंपनियों के आने से क्या होगा? घरघोड़ा के तरफ रास्ते में देखा, पेड़ों में कालिख पुती हुई है, कोल के डस्ट है। भारतीय जनता पार्टी सरकार छत्तीसगढ़ के लोगों को ने कोल डस्ट दी है जिससे लोग बीमार हो रहे है। गंभीर बीमारियां तो फैल रही है लेकिन रोजगार के नाम पर एक भी रोजगार नहीं दिया है ये बड़ी दुर्भाग्य की बात है। झीरम घाटी का मुद्दा कोई नया है। जिस तरह से मैं समझता हूं कि दुनिया में इस तरह की घटना और कोई नहीं घटी होगी, जिसमें प्रदेश का शीर्ष नेतृत्व पूरा खत्म कर दिया। कांग्रेस ने तो मांग की है सीबीआई जांच हो, और जांच हो के सामने आये कि क्या वजह है दो दिन तक निरंतर वहां पर पुलिस लगी हुई थी, जहां परिवर्तन यात्रा निकली थी, नंदकुमार पटेल, महेन्द्र कर्मा, विद्याचरण शुक्ल, उदय मुदलियार, योगेन्द्र शर्मा जितने भी वहां पर लोग थे, उनकी सुरक्षा में रास्ते पर पुलिस खूब लगी थी और जिस दिन घटना होती है तो उस दिन एक भी सिपाही नहीं था। इसकी तो जांच होनी चाहिये और भाजपा सरकार के कार्यकाल में यह घटना हुई है तो ये पूरी तरह से दोषी है। कानून व्यवस्था बनाये रखना, सुरक्षा प्रदान करना इस सरकार की जिम्मेदारी है, और जानबूझकर उन्होने ये सुरक्षा हटाई है तो जाहिर है कि क्या उद्देश्य था, यह तो पूरी तरह से स्पष्ट है। हमने ये भी आव्हान किया है कि जब भी भारतीय जनता पार्टी क्या इस तरह के लोग जो इसके लिये दोषी है वो जो आये उनके प्रतिनिधी आये, उनके कैन्डीडेट आये सबसे पहले पूछा जाये हमारे नेताओं के हत्यारे, हमारे नेताओं के कातिल वो कहां हैं? उनको गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया? छत्तीसगढ़ प्रभारी पुनिया ने पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि भारतीय जनता पार्टी क्या करते है उस पर कोई टिप्पणी नहीं करता। वो अलग पार्टी है वो अपने हिसाब से करे और हम अपने हिसाब करेंगे। यह अवश्य है कि कही घबराहट है। तभी उनके एक बाद दूसरा, दूसरे के बाद तीसरा पदाधिकारी यहां पर दौरा लगा रहे और लगाना भी चाहिये, यह चुनाव वर्ष है।

 

error: Content is protected !!