विकास के लिए गरियाबंद का मास्टर प्लान

संग्राम सिंह राजपूत (गरियाबंद) आज संसदीय सचिव की अध्यक्षता मे जिला कार्यालय में गरियाबंद विकास प्रारूप की बैठक हुई । इसमें गरियाबंद नगर पालिका क्षेत्र के अलावा आस-पास के 9 गांवों नहरगांव, कोकड़ी, पाथरमोंहदा, भिलाई, मजरकट्टा, आमदी, पारागांव, डोगरीगांव तथा केशाडार को शामिल किया गया है। निवेश क्षेत्र में 2 और मालगांव और तांवरबाहरा को शामिल करने का प्रस्ताव संसदीय सचिव दोर्वधन मांझी व जनप्रतिनिधियों ने दिया। विकास योजना में पैरी घुम्मर व्यपवर्तन के नहर नाली और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए चिन्हांकित भूमि को प्रदर्शित करने का सुझाव दिया गया है। गरियाबंद विकास योजना प्रारूप में वर्ष 2031 तक की विकास योजना को शामिल किया गया है। इसमें 2031 तक एक लाख की आबादी होने का अनुमान है। इसके अनुरूप नगर की बसाहट सुव्यवस्थित करने के उद्देश्य से बैठक हुई। इस बैठक मे कई योजनाओं की रूपरेखा तैयार करने कि बात कही गई। साथ ही कई विषयों पर चर्चाएं भी की गई।

error: Content is protected !!