मुख्यमंत्री-मंत्री के विदेश दौरों पर जनता काँग्रेस प्रवक्ता नितिन भंसाली ने की राज्य सरकार से श्वेत पत्र जारी किए जाने की मांग

रायपुर| जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रवक्ता नितिन भंसाली ने की राज्य सरकार से निम्न बिंदुओं पर जवाब मांगा है जिसमे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और उनके मंत्री प्रति वर्ष विदेश यात्रा पर जाते हैं जहाँ तथाकथित एमओयू पर हस्ताक्षर किए जा रहे हैं परंतु आज तक उसका कोई निष्कर्ष नहीं निकला है। सरकारी खजाने का दुरुपयोग कर रमन सरकार, जनता की आँखों में धूल झोंक रही है।

ग्राम सुराज के नाम पर आज तक सिर्फ खाना पूर्ति हो रही है। इसके नाम पर फिजूलखर्ची हो रही है। ग्राम  सुराज के दलों को भी ग्रामीणों के रोश का सामना करना पड़ रहा है। आज तक इस योजना से जनता को कोई फायदा नहीं हुआ है। सरकार की कमजोर इच्छा शक्ति के कारण यह योजना पूरी तरह से विफल है। बोनस और तेंदुपत्ता तिहार भी ऐसी ही फिजूलखर्ची का उदाहरण है। तिहार मनाने के नाम पर करोड़ों रुपये का अनावश्यक खर्च करती है सरकार। सरकारी खजाने का पूरी तरह से दुरूपयोग किया जा रहा है। प्रदेश के पंचायत प्रतिनिधियों को सरकारी खर्च पर नया रायपुर घुमाया जा रहा है। मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि इससे जनता का क्या भला हो रहा है? छत्तीसगढ़ में अकाल और सूखे की स्थिति में किसान आत्महत्या कर रहे हैं और राज्य सरकार राज्योत्सव के आयोजन में करोड़ों रुपये खर्च कर रही है इतना ही नहीं, छत्तीसगढ़ के स्थानीय कलाकारों की अवहेलना कर बाहर से कलाकारों को करोड़ों रुपये खर्च करके बुलाया जाता है। जितनी फिजूलखर्ची और कमीशन खोरी यह सरकार कर रही है, अगर सरकार की इच्छा शक्ति होती तो उतने पैसों में किसानों की कर्ज जैसी समस्याओं का समाधान किया जा सकता है और उन्हें बोनस उपलब्ध कराया जा सकता है। इससे यही साबित होता है कि सरकार प्रदेश की जनता और खास कर किसानों के हितों की रक्षा के प्रति पूरी तरह से असंवेदनशील है। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के प्रवक्ता नितिन भंसाली ने मुख्यमंत्री, मंत्रियों और अधिकारियों के विदेश दौरों पर निशाना साधते हुए राज्य सरकार से श्वेत पत्र लाने की मांग की है।

 

error: Content is protected !!