कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश ने आरएसएस प्रमुख भागवत पर दागे पांच सवाल

रायपुर। संघ प्रमुख मोहन भागवत के छत्तीसगढ़ दौरे पर सूबे की सियासत गरमा गई है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने एक के बाद एक ट्वीट कर संघ प्रमुख से पांच सवाल पूछे हैं। उन्होंने महिला तस्करी, करप्शन, शराब नीति से लेकर गायों की मौत से जुड़े मामले में संघ की चुप्पी को लेकर वार किया है।

भूपेश बघेल ने ट्वीट किया है कि प्रदेश में सैकड़ों गायों की नृशंस हत्या कर दी गयी। गौ सेवा के लिए मिलने वाली सरकारी अनुदान की राशि भी बीजेपी सरकार की कमीशनखोरी की भेंट चढ़ चुका है। उन्होंने संघ प्रमुख से पूछा है कि ऐसे में क्या वो गौ हत्या पर कुछ बोलेंगे? क्या गौ सेवा के नाम पर मची लूट पर कुछ बोलेंगे? भूपेश बघेल का दूसरा सवाल भूपेश बघेल ने संघ प्रमुख मोहन भगवत से दूसरा सवाल किया है कि डॉ रमन सिंह के नेतृत्व में चल रही सरकार ने पिछले वित्तीय वर्ष से खुद शराब बेचना शुरू किया है। ऐसे में जानने की इच्छा होती है कि शराब पर संघ की क्या नीति है? क्या शराब बेचना भारतीय संस्कृति के खिलाफ नहीं है? भूपेश बघेल ने मोहन भगवत से तीसरा सवाल करते हुए ट्वीट किया है कि प्रदेश में 27 हजार महिलाएं और युवतियां गायब हैं। वैसे संघ के ढांचे में महिलाओं के लिए कोई स्थान नहीं है। तो क्या इसलिए संघ पोषित राज्य सरकार में महिलायें असुरक्षित हैं? महिलाओं की सुरक्षा को लेकर आपके क्या विचार हैं?भूपेश बघेल चौथा सवाल ट्वीट किया है कि नक्सलवाद से निपटने के नाम पर बस्तर में आदिवासियों पर अत्याचार बढ़ा है। आदिवासी दोनों ओर से पिस रहे हैं, न महिलाएं सुरक्षित हैं और न बच्चे। जंगल के इलाके में संघ के कई संगठन आदिवासियों के बीच काम करते हैं, लेकिन संघ प्रमुख मोहन भागवत इस अत्याचार पर चुप क्यों हैं? भूपेश बघेल ने संघ प्रमुख मोहन भगवत से पांचवां सवाल किया है कि सीएम रमन सिंह समेत सभी मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं। बीजेपी सरकार के 14 साल के कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार की खुली स्वीकारोक्ति है और आश्चर्य है कि संघ इस पर भी चुप्पी साधे बैठा रहता है। क्या संघ ही भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा पोषक हो गया है?

 

error: Content is protected !!