सोनहत मनरेगा मजदूर मजदूरी के पैसे के लिए लगा रहे है। चक्कर

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया) सोनहत विकासखण्ड के मनरेगा मजदूर मजदूरी पाने के लिए लगातार कार्यालय से लेकर बैंक के चक्कर काटने को मजबूर है बैंक में कहा जाता है पैसा नही आया और जब कार्यालय में जानकारी ली जाती है तो कहा जाता है भुकतान हो चुका है मजदूरी करने के बाद भी मजदूरी भुकतान का पैसा कहा जा रहा इस उलझन में फसे हुए है मनरेगा मजदूर,जब इस मामले की तहकीकात की गई तो पता चला कि आईसीआई (फिनो) बैंक में  मजदूरी भुकतान का पैसा जा रहा है। ग्रामीण मजदूरों का कहना कि उन्होंने अपने क्षेत्र के ही ग्रामीण बैंक का अकाउंट नंबर मजदूरी भुकतान के लिए दिया था फिर आईसीआई बैंक में पैसा कैसे ट्रांसफर किया जा रहा जिससे वे अनजान है सोनहत क्षेत्र मे आईसीआई बैंक की ब्रांच भी नही जिससे कि वे पता कर सके कि मजदूरी भुकतान उनके खाते तक पहुचा या नही वही विकासखण्ड मनरेगा अधिकारी का कहना है कि जल्द ही इस समस्या का समाधान किया जाएगा बैंक से संपर्क कर भुकतान ग्राम पंचायतों में ही कराया जाएगा और आईसीआई बैंक के खाते को बंद करा कर क्षेत्र में स्थापित बैंक के खाते नंबरो को जोड़ा जाएगा जिससे आसानी से मजदूरी भुकतान मजदूरों तक पहुँच सकेगा।

error: Content is protected !!