प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ति के निर्देश

०० अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में अंतर विभागीय कार्यकारी समूह की बैठक

रायपुर| कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त अजय सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत अंतर विभागीय कार्यकारी समूह की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में कृषि, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, वन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास और आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लिए चालू वित्तीय वर्ष 2017-18 में प्राप्त राशि में से घटकवार भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की गयी। अपर मुख्य सचिव सिंह ने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को योजना के तहत निर्धारित लक्ष्यों की शत-प्रतिशत पूर्ति के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उच्च प्राथमिकता वाली योजना है। इसके क्रियान्वयन में विशेष रूचि लेकर गंभीरता से कार्य करें और योजना के लिए प्रावधानित बजट का समुचित उपयोग सुनिश्चित करें। बैठक में संचालक कृषि एम.एस. केरकेट्टा ने प्रस्तुतिकरण के जरिये पिछली बैठक के पालन प्रतिवेदन और चालू वित्तीय वर्ष 2017-18 के भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किसानों को सिंचाई की नई तकनीक सिं्प्रकलर एरीगेशन, ड्रिप एरीगेशन एवं सिंचाई पंपों सहित अन्य कृषि यंत्र और उपकरण उपलब्ध कराने के लिए गुजरात पैटर्न पर ऑन लाईन व्यवस्था शुरू की गयी है। इसके तहत छत्तीसगढ़ एग्रीकल्चर मेकेनाईजेशन एंड माइक्रोएरीगेशन प्रोसेस सिस्टम (चेम्पस) में ऑनलाईन आवेदन प्राप्त हो रहे है। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (हर बूंद अधिक फसल) सूक्ष्म सिंचाई योजना के अंतर्गत गैर उद्यानिकी फसलों के लिए स्प्रिंकलर पद्धति से 14 लाख 979 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए ऑनलाईन आवेदन प्राप्त हो चुके है। बैठक में मनरेगा, एकीकृत जलग्रहण प्रबंधन, जलग्रहण क्षेत्र के तहत निर्धारित सिंचाई लक्ष्यों की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की गयी। बैठक में सचिव जल संसाधन श्री सोनमणि बोरा, सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी सुश्री शहला निगार, सचिव वन श्री अतुल शुक्ला, सचिव कृषि श्री अनूप श्रीवास्तव और विशेष सचिव आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति सुश्री रीना बाबा साहेब कंगाले सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!