शिक्षा की अलख जगाने मुस्लिम समाज ने  गौसे आजम की याद में निकाली जुलूसे गौसिया

रायपुर| मुस्लिम समाज ने शिक्षा की अलख जगाने गौस पाक की याद में जुलूसे गौसिया निकाला| जुलूस में डीजे की धुन पर युवा नाचते-गाते निकले जुलुस के पीछे-पीछे अनेक वाहनों पर बड़े पोस्टरों के माध्यम से गौस पाक के बताए मार्ग पर चलने की अपील की गई|

जुलूस बैजनाथपारा से निकलकर महबूबिया चौक, मोतीबाग, शास्त्री चौक, डीके चौक, सुभाष नगर, मौदहापारा, शहीद स्मारक भवन, बांसटाल जयस्तंभ चौक, मालवीय रोड होते हुए बैजनाथपारा के सीरत मैदान पहुंचा जहां हजरत मूसा निजामी साहब दिल्ली व मौलाना मुफ़्ती मोहम्मद अली फारुकी साहब ने परचम कुशाई की रस्म अदा की व मगरिब की नमाज के बाद मुल्क में अमन चैन की दुआ की गई |

संत गौसे पाक की याद में गौसुल आजम कॉन्फ्रेंस  एवं जुलूसे गौसिया का आयोजन किया गया जुलूसे गौसिया में हर मोहल्ले के लोगो ने शिरकत की साथ ही जगह जगह सभी धर्म के मानने वालो ने किया जुलूसे गौसिया स्वागत और धर्म गुरुओ ने  गौस पाक की जीवनी पर प्रकाश डाला और कहा कि गौस पाक के बताए रास्ते पर चलकर ही मंजिल हासिल कर सकते हैं वही इस मौके पर गौसुल आजम अवॉर्ड के रूप में हजरत मौलाना शमसुद्दीन साहब को पांच हजार रुपए प्रदान किया गया|

इस मौके पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमे प्रथम पुरस्कार प्रथम हसनैन रजा 2500, दूसरा स्थान आरजू कैशर 1100 व इसान अली को तीसरा 500  नगद इनाम और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। इस अवसर पर अनेक कमेटियों व मोहल्लों के जुलूस में से बेहतरीन जुलूस का प्रथम पुरस्कार अशरफुल यंग कमेटी , द्वितीय हीरापुर मदरसा व तृतीय गौसिया मस्जिद संतोषी नगर को दिया गया। जुलूस के संचालन में हाजी शेख नाजिमुद्दीन, अकबर अली फारूकी, बदरूद्दीन खोखर, हसरत खान, इकबाल शरीफ, अनवर फारूकी, जरनल सेकेट्री नदीम मेमन, शेख इमरान, मुजाहिद फारुखी, शाकिरूद्दीन कुरैशी, मुल्ला शहाबुद्दीन, कारी इमरान अशरफी, नासिर भाई, मौ.अ.रज्जाक अशरफी, हाफिज जहीरूद्दीन, ने विशेष भूमिका निभाई।

 

 

error: Content is protected !!