ई-जनदर्शन : जशपुर जिले में मछलीपालन और उद्यानिकी फसलों को बढ़ावा देने के लिए बनेगी कार्य-योजना

०० जशपुर में किसानों की सहकारी समिति को कृषि उपजों की बिक्री के लिए मिलेगी दुकान

०० जशपुर आई.टी.आई. परिसर में बिरहोर युवाओं के लिए बनेगा सन्ना हॉस्टल
०० जोड़ाजाम-कलिया-लैलूंगा तक 14 किलोमीटर सड़क मरम्मत की जल्द मिलेगी स्वीकृति

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज ई-जनदर्शन में जशपुर जिले में मछली पालन और उद्यानिकी फसलों को बढ़ावा देने के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं। जशपुर जिले की बगीचा ग्राम पंचायत के श्री कुंवर साय और पत्थलगांव के पालीडीह गांव के श्री विजय भान सहित अनेक किसानों ने मुख्यमंत्री से डबरी में मछली पालन के लिए बीज उपलब्ध कराने की मांग की। इसी तरह कोपा ग्राम पंचायत के निवासी श्री बहत्तर राम ने कृषि उत्पादों की बिक्री के लिए जिला मुख्यालय जशपुर में एक दुकान उपलब्ध कराने का आग्रह मुख्यमंत्री से किया। उन्होंने बताया कि वे सुगंधित चावल जीरफूल और सब्जियों का उत्पादन करते हैं। जशपुर में उनकी फसलों के लिए अच्छा बाजार मिलेगा।  इस संबंध में अपर मुख्य सचिव और कृषि उत्पादन आयुक्त श्री अजय सिंह ने बताया कि उद्यानिकी मिशन और मंडी समितियों में भी किसानों को दुकान उपलब्ध कराने के लिए सहायता का प्रावधान है। श्री सिंह ने कहा कि बरसात के पहले मछली पालन के इच्छुक किसानों को मछली बीज उपलब्ध करा दिए जाएंगे। ई-जनदर्शन में जशपुर  कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बताया कि जिले में नाशपाती और स्ट्राबेरी का उत्पादन किसानों द्वारा किया जा रहा है। बगीचा विकासखंड के भितघरा गांव के श्री जागेश्वर राम ने इस बात पर प्रसन्नता जतायी कि उनकी ग्राम पंचायत की शिवरीनारायण बिरहोर बस्ती में जल्द विद्युत लाइन का विस्तार होगा और सभी घरों में बिजली कनेक्शन मिलेंगे।
विधायक श्री राजशरण भगत ने मुख्यमंत्री से सन्ना में औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्र प्रारंभ कराने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने जशपुर के औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्र (आई.टी.आई) परिसर में सन्ना के बिरहोर विशेष पिछड़ी जनजाति के युवाओं के लिए सन्ना हॉस्टल का निर्माण कराने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने बगीचा विकासखंड में जोड़ाजाम-कलिया-लैलूंगा तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत लगभग 10 वर्ष पहले निर्मित 14 किलोमीटर लंबी सड़क की मरम्मत की मांग के संबंध में बताया कि इस सड़क की मरम्मत की स्वीकृति एक माह में मिल जाएगी। इसके साथ ही साथ इस सड़क का चौड़ीकरण भी किया जाएगा। पत्थलगांव विकासखंड के मुड़ापारा निवासी श्री करूणा सागर ने पत्थलगांव-अंबिकापुर, कुनकुरी-पत्थलगांव सड़क निर्माण की धीमी गति की शिकायत मुख्यमंत्री से की। मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि इस सड़क के निर्माण कार्य में तेजी लाने के लिए ठेकेदार को मशीनों की संख्या बढ़ाने और काम में गति लाने के निर्देश दे दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि रायपुर-बिलासपुर-धर्मजयगढ़- पत्थलगांव नई सड़क की स्वीकृति भी प्राप्त हो गई है। चिकनी ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती जानकी कुजूर द्वारा गांव के हाई स्कूल तक पहुंच मार्ग तथा इस मार्ग पर पुलिया निर्माण की मांग के संबंध में अधिकारियों ने बताया कि जिला खनिज निधि से इस मार्ग की पुलिया के निर्माण के लिए 12 लाख रूपए की स्वीकृति दी जा रही है। पत्थलगांव के विधायक श्री शिवशंकर पैकरा ने बताया कि उनके क्षेत्र के 251 किसानों का सहकारी  समिति में पंजीयन नहीं हो पाने के कारण वे लोग समर्थन मूल्य पर धान नहीं बेच पा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में जिम्मेदार अधिकारी के विरूद्ध कार्रवाई के निर्देश देते हुए इन किसानों का पंजीयन तत्काल करने के निर्देश दिए। कुनकुरी जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष श्री गणेश यादव ने नारायणपुर ग्रामीण बैंक में कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने और नारायणपुर के समीप बने सिंचाई जलाशय की नहर मरम्मत कराने का आग्रह किया। उन्होंने बताया कि इस नहर के बनने से 11 पंचायतों के किसानों को सिंचाई का लाभ मिलेगा।मुख्यमंत्री ने उनकी समस्या के जल्द निराकरण का आश्वासन दिया। नहर मरम्मत के लिए महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना और जिला खनिज विकास निधि से स्वीकृति प्रदान करने के निर्देश दिए।  कुनकुरी  के विनय सिंह ने तहसील कार्यालय में महिला शौचालय बनवाने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को जल्द शौचालय बनवाने के निर्देश दिए। ग्राम रायकेरा के ग्रामीण श्री कंदपो ने उनकी जमीन पर भूमि सुधार का कार्य कराने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को तत्काल कार्य की स्वीकृति प्रदान करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री को कुनकुरी विधायक श्री रोहित साय ने बताया कि ग्राम गटाकटा के कई लोगों के नाम वर्ष 2011 की सामाजिक आर्थिक जनगणना में नहीं होने से योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। मुख्यमंत्री ने ग्रामसभा की बैठक में इस संबंध में प्रस्ताव पारित कर सूची भेजने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कांसाबेल विकासखंड के टांगर गांव के श्रद्धा महिला स्वसहायता समूह की श्रीमती रूकमणि देवी ने बताया कि उनके समूह की दस महिलाएं टसर बीज संग्रहण करती हैं। उन्होंने टसर धागा बनाने के लिए मशीन उपलब्ध कराने का आग्रह मुख्यमंत्री से किया। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को जिला खनिज विकास निधि से मशीन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। सागीभावना गांव के श्री नरसूराम ने प्रधानमंत्री आवास की मांग की। अधिकारियों ने बताया कि इस वर्ष उनका आवास स्वीकृत हो जाएगा। सर्वे सूची में श्री नरसू राम का नाम शामिल है। हथगड़ा गांव के राधा महिला स्व-सहायता समूह की देवकी बाई ने जशपुर आने-जाने के लिए स्वसहायता समूह को वाहन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

 

 

error: Content is protected !!