सेंट्रल कमेटी के 1 करोड़ इनामी नक्सली जम्पन्ना ने किया आत्मसमर्पण

०० कुख्यात नक्सली जम्पन्ना ने अपनी पत्नी रंजीता के साथ तेलंगाना पुलिस के सामने डाले हथियार

०० जम्पन्ना का समपर्ण नक्सल संगठन के लिए एक बडे झटके के रूप में माना जा रहा है

रायपुर। छत्तीसगढ़ और तेलंगाना की सीमा क्षेत्र में कई नक्सली वारदातों में लिप्त रहे ईनामी नक्सली नरसिंह रेड्डी ने आत्मसमर्पण कर दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक नरसिंह रेड्डी को जम्पन्ना के नाम से भी जाना जाता है। जम्पन्ना पर करीब एक करोड़ रुपए का इनाम घोषित था। जम्पन्ना के आत्मसमर्पण के एंटी नक्सल ऑपरेशन के तहत बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक जम्पन्ना ने अपनी पत्नी रंजीता के साथ तेलंगाना पुलिस के सामने हथियार डाल दिये हैं। जम्पन्ना नक्सलियों के सेंट्रल मिलिट्री कमीशन का भी सदस्य रहा है। साथ ही उसके पास आंध्र.ओडि़सा स्पेशल जोनल कमिटी की भी जिम्मेदारी थी। जम्पन्ना छत्तीसगढ़ में भी सक्रिय रहा है छत्तीसगढ़ में उस पर 40 लाख का इनाम था वहीं आंध्र उड़ीसा और तेलंगाना में कुल जम्पन्ना पर 1 करोड़ से अधिक का इनाम था। हालांकि जम्पन्ना को तेलंगाना में ही सरेंडर करने की वजह से तेलंगाना नक्सल पॉलिसी के तहत 25 लाख रुपये ही मिलेंगे। नक्सल संगठन में पोलित ब्यूरो सदस्य और सेंट्रल कमिटी मेंबर ही नीति निर्धारक होते हैं। और वर्तमान सीपीआई में 20 के करीब पीबी और सीसी मेंबर हैं। जम्पन्ना उनमे से ही एक था। इसलिए जम्पन्ना का समपर्ण नक्सल संगठन के लिए एक बड़ा नुकसान हुआ है ये तो तय है।

यहां भी हुआ नक्सली समर्पण:- नारायणपुर जिले में चल रहे माओवादी विरोधी अभियान के बढ़ते दबाव, शासन के पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर एवं लगातार माओवादी सदस्यो के आत्मसर्मपण करने के कारण शुक्रवार एक महिला सहित तीन माओवादियों ने पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के सामने बिना हथियार आत्मसमर्पण किया है। जिसमें बालमति कोर्राम पिता मुल्ला उम्र 40 निवासी बेचा कुवांनार एरिया जनताना सरकार उपाध्यक्ष, स्कूल प्रभारी, सुदोर वट्टी पिता अड़मो उम्र 30 करला भाटपारा मंदोड़ा जनताना सरकार सदस्य एंव सोमारू कावडे पिता आयतु उम्र 22 निवासी हितावाड़ा कोलोकाल पंचायत मिलिशिया डिप्टी कमाण्डर शामिल है।

जनताना सरकार स्कूल प्रभारी की दी जिम्मेदारी:- बालमति कोर्राम को 2006 में माओवादी कमाण्डर रामू द्वारा बेचा जनताना सरकार में शामिल कर बेचा जनताना सरकार का उपाध्यक्ष बनाया गया था। इसके बाद 2009 में माओवादी कमाण्डर नीति उर्फ उर्मिला ने बालमति को एरिया कमेटी सदस्य बनाकर 7 दिन का प्रशिक्षण देने के बाद जनताना सरकार स्कूल प्रभारी की जिम्मेदारी दी थी|

error: Content is protected !!