विधानसभा सत्र : बड़े स्कूलों में बीपीएल कोटे की आधी सीटें खाली

00 सदन में देवजी भाई पटेल के सवाल पर शिक्षामंत्री केदार कश्यप ने दिया जवाब 
रायपुर। प्रदेश में शिक्षा के अधिकार कानून की किस तरह धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। इसकी पोल शुक्रवार को विधान सभा में खुद प्रदेश के शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने ही खोलकर रख दी। दरअसल विधान सभा के शीतकालीन सत्र में भाजपा विधायक देवजी भाई पटेल ने सवाल किया कि गरीबी रेखा से नीचे निवास करने वाले कितने बच्चों का प्रवेश पिछले शैक्षणिक सत्र में मिल पाया?
इस पर शिक्षा मंत्री केदार कश्यप का जवाब चौंकाने वाला था। उन्होंने रायपुर, बिलासपुर, और दुर्ग-भिलाई के आंकड़े दिए। इससे ये साफ हो गया कि राज्य में गरीब बच्चों के लिए आरक्षित सीटों की आधी सीटों पर भी नहीं हो पाया। शैक्षणिक सत्र 2016-17 में रायपुर में बीपीएल बच्चों के लिए आरक्षित सीटों की संख्या 2497 थी, लेकिन सिर्फ 1673 बच्चों का ही दाखिला हो पाया, वहीं बिलासपुर में 581 आरक्षित सीटों में 213 बच्चों का और दुर्ग-भिलाई में 2155 आरक्षित सीटों में से 1060 सीटों पर ही बीपीएल बच्चों को दाखिला दिया गया। साल 2017-18 में दाखिले का हाल तो और भी बुरा रहा। रायपुर आरक्षित सीटों की संख्या 6534 थी, जवाब में सिर्फ 2767 सीटों पर दाखिला मिल पाया। वहीं बिलासपुर में आरक्षित 570 सीटों में 239 सीटों पर ही प्रवेश मिल पाया। तो वहीं दुर्ग-भिलाई के रिजर्व 2680 सीटों में 1248 सीटों पर ही प्रवेश मिला। उन्होंने सदन को भरोसा दिलाया कि आदेशों का गंभीरता से पालन किया जाएगा।

 

error: Content is protected !!