ग्राम देवरी में टी.बी./लेप्रोसी जनजागरण शिविर का हुआ आयोजन

मुंगेली पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण एवं कुष्ठ नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत टी.बी./लेप्रोसी जनजागरण शिविर विकासखण्ड मुंगेली के ग्र्राम देवरी में किया गया। जिसमें एक दिन पूर्व कोटवार के द्वारा मुनादी एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओ और मितानिनां के द्वारा गांव में प्रचार-प्रसार किया गया। इस शिविर में 181 मरीजों की जांच की गई, जिसमें 08 टी.बी. के संदेहास्पद मरीज, 02 कुष्ठ, 20 चर्मरोग, 02 मोतियाबिंद, 05 शुगर, 02 बीपी मरीज मिले। जिसमें टीबी संदेहास्पद मरीजों का बलगम जांच के लिये एकत्र किया गया। उपरोक्त कार्यक्रम मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक के मार्गदर्शन में किया गया। इस शिविर में जिला क्षय नियत्रंण अधिकारी डॉ. सुदेश रात्रे के द्वारा सभी मरीजों की जांच एवं उपचार किया गया और उन्हे दवाई एवं परामर्श भी दिया गया। इस कार्यक्रम में उनके द्वारा स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता एवं मितानिनों को टीबी के निम्न लक्षण पाये जाने पर बलगम जाँच हेतु संदेहास्पद मरीजों को भेजे जाने हेतु डीएमसी लाने हेतु प्रेरित किया गया। टीबी के प्रमुख लक्षण इसके अतिरिक्त टीबी/कुष्ठ रोग से बचाव एवं नियंत्रण के लिये पाम्पलेट भी बांटा गया। मितानिनों को टीबी/कुष्ठ लक्षण के बारे में जानकारी दी गयी।

error: Content is protected !!