पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध होकर कार्य करें : राज्यपाल

०० भारतीय वन सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने राज्यपाल से की मुलाकात

रायपुर| राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ने भारतीय वन सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों से भेंट के दौरान उन्हें पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध होकर कार्य करने की समझाईश दी। भारतीय वन सेवा के वर्ष 2016 बैच के प्रशिक्षु अधिकारी, छत्तीसगढ़ के तीन दिवसीय अध्ययन दौरे पर पहुंचे हैं। इस अवसर पर श्री टंडन ने कहा कि देश और समाज ने जो जिम्मेदारी सौंपी है उसे आपको अपनी कार्यकुशलता और लगन से पूरा करना है। उन्होंने कहा कि आप ऐसे कार्य करें, जो अपने पूरे देश के लिए नजीर बने। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव वन श्री सी. के. खेतान, श्री आर. के. सिंह, प्रधान मुख्य संरक्षक वन, राज्यपाल के सचिव श्री एस.के. जायसवाल उपस्थित थे।

श्री टंडन ने प्रशिक्षु अधिकारियों से मुलाकात के दौरान कहा कि आज पूरे विश्व में पर्यावरण असंतुलन और उसके नकारात्मक प्रभाव पर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। पर्यावरण को बचाना हमारी लाईफ लाइन को बचाने के समान है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के कार्य मैदानी स्तर पर नजर आने चाहिए। वन कानूनों का सख्ती से पालन कराएं। जो भी कार्य करें पूरे दिल से करें तभी हमेें बेहतर सफलता मिलेगी।  अपर मुख्य सचिव वन श्री सी. के. खेतान ने बताया कि इन अधिकारियों को छत्तीसगढ़ में हरियाली प्रसार योजना, हरियर छत्तीसगढ़ योजना, बॉटनिकल गार्डन, संयुक्त वन प्रबंधन समिति के कार्यों एवं नया रायपुर में विभिन्न कार्यों का अवलोकन कराया जाएगा। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी देहरादून से आए ये अधिकारी तीन दिवसीय भ्रमण पर राजधानी रायपुर पहुंचे हैं। इस दल में हिमाचल प्रदेश, झारखंड, मध्यप्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, मणिपुर, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल सहित नौ राज्यों के प्रशिक्षु अधिकारी एवं भूटान का एक अधिकारी शामिल हैं।इस अवसर पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी, देहरादून के श्री गंगा सिंह ने राज्यपाल को अकादमी की ओर से प्रतीक चिन्ह भेंट किया। इस अवसर पर राज्यपाल के विधिक सलाहकार श्री एन. के. चंद्रवंशी, उप सचिव श्री जन्मेजय महोबे, श्री अरूण कुमार पांडे, मुख्य वन संरक्षक रायपुर और प्रशिक्षु अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!