बाबा के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ को विकसित राज्य बनायेंगे- डॉ. सिंह

मुख्यमंत्री ने एम्बुलेंस को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया
मंच पर 5 हितग्राहियों को मेडिकेट मच्छरदानी का वितरण
मुख्यमंत्री लालपुर में आयोजित गुरू घासीदास जयंती समारोह में शामिल हुए
मुंगेली -मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि बाबा गुरू घासीदास के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ में तीसरे बार सरकार बनीं एवं छत्तीसगढ़ को विकसित राज्य बनायेंगे। विगत 14 वर्षो में शासन की योजनाओं को गांव-गरीबों एवं किसानों तक पहुंचाने का कार्य किया गया है। जिसे आम जनता अपने आंखों से देख रहे है। उन्होने कहा कि भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बाबा का मत्था टेकने गिरौदपुरी आये थे। छत्तीसगढ़ के गिरौदपुरी में लगातार मेला का स्वरूप बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने गुरू गद्दी एवं जैतखाम में पूजा-अर्चना की तथा गुरू घासीदास के जीवनी पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस मौके पर खाद्यमंत्री पुन्नूलाल मोहले, जिले के प्रभारी एवं सहकारिता, पर्यटन मंत्री दयाल दास बघेल, बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद लखनलाल साहू, राज्य सभा सांसद डॉ. भूषण जांगड़े, संसदीय सचिव द्वय तोखन साहू एवं राजू सिंह क्षत्री उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने विधायक मद से प्रदत्त एम्बुलेंस को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को वाहन की चाबी सौंपी तथा मंच पर 5 हितग्राहियों को मेडिकेट मच्छरदानी का वितरण किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान कोरबा जिले के पताड़ी से प्रकाशित सतनाम कलेण्डर का विमोचन भी किया।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि गुरू घासीदास जी का जन्म सन् 1756 में गिरौदपुरी में हुआ। उस समय समाज में कुरीतियां, अंधविश्वास, अस्पृश्यता व्याप्त थी। उन्होने कहा कि गुरू घासीदास ने सत्य अहिंसा, मनखे-मनखे एक समान, अंधविश्वास, आडम्बर से दूर रहने, नशा पान नहीं करने का उपदेश दिया। दया करूणा, सत्य मार्ग पर चलने, नारी सम्मान एवं पशुओं से प्रेम करने कहा। उन्होने कहा कि पंथी के माध्यम से गुरू घासीदास के संदेशों को दूर-दूर तक पहुंचाने का कार्य किया गया है। मुख्यमंत्री ने गुरू घासीदास जयंती समारोह का सफलतापूर्वक आयोजन के लिए समाज के व्यक्तियों को बधाई दी। नई दिल्ली में आयोजित आचार्य रविशंकर के कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ से पंथी नर्तक दल के 1200 कलाकारों ने बेहतर प्रदर्शन कर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया। लाखों दर्शकों ने उत्कृष्ठ पंथी नृत्य से भाव विभोर होकर तालियां बजाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने मिनी माता स्वावलम्बन योजना, अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के तहत मंगल भवन निर्माण साथ ही सड़कों का जाल बिछाने का कार्य किया है। उन्होने कहा कि स्काई योजना के अंतर्गत 45 लाख लोगों को स्मार्ट फोन दिया जाएगा। इसके लिए गांव-गांव में टावर लगेंगे।
खाद्यमंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले ने संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री प्रतिवर्ष ग्राम लालपुर में आयोजित गुरू घासीदास जयंती समारोह में आते है और भविष्य में भी आते रहेंगे। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जब गिरौदपुरी आये तो चार चांद लग गये। गिरौदपुरी में 54 करोड़ रूपए की लागत से कुतुम्बमिनार से ऊंचा जैतखाम का निर्माण कराया गया है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मिनीमाता सम्मान पुरस्कार के अंतर्गत 2 लाख रूपए प्रदान किया जाता है। प्रधानमंत्री ग्राम आदर्श योजना के तहत गांवों के समग्र विकास के लिए 45 लाख रूपए दिया जाएगा। संसदीय सचिव श्री तोखन साहू ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हर वर्ष लालपुर अवश्य आते है। जिससे जयंती समारोह की गरिमा बढ़ जाती है। कार्यक्रम का संचालन रामकुमार पात्रे ने एवं आभार व्यक्त डीएल भास्कर ने किया।
इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य रामेश्वर बंजारे, श्रीमती शांति भास्कर, लोरमी जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती वर्षा सिंह, पूर्व विधायक चोवादास खाण्डेकर, कोमल गिरी गोस्वामी, कलेक्टर एनएन एक्का, पुलिस अधीक्षक श्रीमती नीथू कमल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, अपर कलेक्टर शरीफ मोहम्मद, अंजोर दास पाटले, भुनेश्वर पात्रे, जीवन बंजारा सहित पंच-सरपंच, जनपद सदस्य अन्य जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, मीडिया प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

error: Content is protected !!