जन अधिकार पदयात्रा के बहाने भुपेश, पुनिया ने किया कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रिचार्ज

बिलासपुर। शिवरीनारायण के तट पर मृत किसानों के तर्पण के बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भुपेश बघेल ने जो पद यात्रा शुरू की उसे क्षेत्र में सकारात्मक पहल के रूप में देखा जा रहा है। कार्यक्रम स्थल से लेकर पूर्व प्रदेश अध्यक्ष परशराम भारद्वाज के गांव तक पदयात्रा में हजारों की संख्या में लोग शामिल थे। यात्रा में शामिल कार्यकर्ताओं की भीड़ से प्रदेश के नेताओं में जोश भरा है। यात्रा शुरू करने के पहले प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया ने भारतीय जनता पार्टी सरकार की नाकामी, भ्रष्टाचार, पक्षपात के संदर्भ में कई तथ्य रखे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पुरे प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर सत्ता बदलने के लिए पद यात्राएं निकाल रहे है। जहां एक ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री अपने 14 साल के शासन का जश्न मना रहे है वही कांग्रेस जनता को यह बताने की कोशिश कर रही है की प्रदेश में कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार, अधोसंरचना का पिछड़ापन, युवाओं के बीच फैल रही बेरोजगारी, कृषि लगातार पिछड़ना के बीच केवल और केवल भारतीय जनता पार्टी के मंत्री और पदाधिकारियों का विकास हुआ है।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने अपनी यह पदयात्रा मां शबरी के नगरी शिवरीनारायण से शुरू की। इसे छत्तीसगढ़ में संगम के नाम से जानते है। जिसका धार्मिक महत्व किसी भी तरह प्रयाग से कम नही है। भुपेश बघेल अपनी पद यात्राओं के द्वारा लगातार जनता से जुड़ने का प्रयास कर रहे है। पद यात्रा कार्यक्रम में प्रदेश के सभी बड़े नेता उपस्थित थे। चरणदास महंत जिनका अपने गृह ग्राम में जन्मदिन केअवसर पर कार्यक्रम था वें भी उपस्थित थे। उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जनता अपना मन बना चुकि है, और अब हमारी और कार्यकर्ताओं की बारी है, कि पार्टी के मध्य एकता रहे जनहित के मुद्दों पर पुरी पार्टी एक सात खड़ी हों यह भी देखना है कि भारतीय जनता पार्टी जिसका चाल चरीत्र और चेहरा हमेशा संदिग्द्ध रहता है, वह जनता को भ्रम में न डाल पाए। पद यात्रा में बिलासुपर के सभी पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता बड़ी संख्या में पहुंचे थे। शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला, मस्तुरी विधायक दिलीप लहरीया, अकलतरा विधायक चुन्नीलाल साहू, शिवा मिश्रा, मस्तुरी विधायक प्रतिनिधि ब्रम्हदेव सिंह ठाकुर, मनिहार निषाद, राजेन्द्र धीवर, महेश टाटा, धर्मेश शर्मा, विजय केशरवानी, शैलेष पांडे, पंकज सिंह, अभय नारायण, ऋषी पांडे, बद्री यादव, आशीष अवस्थी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने उपस्थिति दर्ज कराई।

बिलासपुर पहुंचे प्रभारी सचिव ऊरांव हुए नाराज:- प्रभारी सचिव अरूण ऊरांव जो आईपीएस रहे है, का बिलासपुर दौरा पूर्व निर्धारित था। उन्होंने अपने दौरे की पूर्व सूचना महामंत्री को दे कर रखी थी। उनके तय कार्यक्रमों को कार्यालय में आयोजित करने कोई भी वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित नही रहा। यहां तक की सर्किट हाऊस में उनके स्वागत के लिए भी वरिष्ठ पदाधिकारी नही पंहुचे। आनन-फानन में ऋषी पांडे शहर प्रवक्ता, त्रिलोक श्रीवास तथा ब्रम्हदेव सिंह ठाकुर ने श्री ऊरांव की आगवानी की। अन्य कार्यक्रम आयोजित नही हुए प्रवक्ता के बार-बार संर्पक करने पर कुछ पत्रकारों ने प्रेस कांफ्रेसं में पहुंचना मंजूर किया। तब ले-देकर पत्रकार वार्ता हो पाई। अपनी उपेक्षा से नाराज ऊरांव ने अपनी नाराजगी उपस्थित पदाधिकारीयों के समक्ष जाहिर की तथा उपर तक इस व्यवहार की शिकायत दर्ज करने कहा। बाद में महामंत्री अटल श्रीवास्तव पहुंचे और उन्होंने अपनी अन्य जगह व्यस्त्ता बता के बात को संभालना भी चाहा।

error: Content is protected !!