राजधानी के करीब पंहुचा जंगली हाथियों का दल, मचा हडकंप

00 मौके पर जुटे वन अमले के लोग, रात होने का किया जा रहा इंतजार

रायपुर। 18 जंगली हाथियों का दल शनिवार को राजधानी से महज 25 किलोमीटर दूर मौजूद बताया जा रहा है। ये जानकारी प्रधान मुख्य वन संरक्षक आरके. सिंह ने दी। उन्होंने कहा कि दंतैलों का ये दल जो सुबह मंदिर हसौद के जोरा में देखा गया था। दोपहर बाद वो सिवनी के नारा कोल्हान नाले के पास मौजूद है। हाथियों को खदेडऩे के लिए वन विभाग का अमला यहां मौजूद है। पीसीसीएफ आरके. सिंह ने कहा कि हम लोग रात होने का इंतजार कर रहे हैं। जैसे ही रात होगी हम इनको खदेडऩे की कार्रवाई शुरू करेंगे। दिन में अगर इनको खदेडऩे की कोशिश की जाएगी तो ये बिदक जाएंगे और फिर इनको काबू में करना मुश्किल हो जाएगा।
रायपुर के इंदिरागांधी कृषि विश्व विद्यालय के करीब जोरा गांव में सुबह ग्रामीणों ने 18 हाथियों को देखा, जिसके बाद तत्काल इसकी सूचना वन विभाग के अफसरों को दी गयी। पीसीसीएफ सिंह ने कहा कि हाथियों का दल भटककर रायपुर के शहरी इलाके की तरफ पहुंच गया है। इधर रायपुर के शहरी इलाकों में हाथियों के पहुंचने की खबर से हड़कंप मच गया है।
अक्टूबर में 17 हाथियों का दल आ चुका :- इसी साल अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में पहली बार फरफौद में 17 हाथियों का दल देखा गया था। धान की फसल को रौंदने के बाद ये हाथी खमतराई होते हुए महासमुंद की ओर लौट गए थे। शनिवार को दंतैलों का दल रायपुर से बमुश्किल 25 किमी दूर सवनी के नारा कोल्हान नाले के पास देखा गया है। इसके बाद यहां रहने वाले ग्रामीण इस बात को लेकर दहशत में थे कि ये हाथी रात में बस्तियों पर हमले कर सकते हैं। एहतियात के तौर पर सरपंच मालती नरसिंग लहरी ने खमतराई और आसपास के गांवों में मुनादी करा दी थी। वन विभाग के अमले ने लोगों से सतर्क रहने के लिए कहा गया है।

 

error: Content is protected !!