पानी बचाने के उपायों पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत: रामसेवक पैकरा

०० लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री ने किया कार्यशाला का शुभारंभ

रायपुर| गृह, जेल और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रामसेवक पैकरा ने आज यहां राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एन.आई.टी.) में इंडियन वॉटर वर्क्स एसोसिएशन द्वारा जल संरक्षण पर आयोजित कार्यशाला का शुभारंभ किया। श्री पैकरा ने देश और दुनिया में भू-जल स्तर में आ रही गिरावट को रोकने के लिए वनों के संतुलित दोहन, सघन वृक्षारोपण और पानी बचाने के विभिन्न उपायों पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूतर पर बल दिया।

कार्यशाला में पैकरा ने एनआईटी के विद्यार्थियों के साथ अपने विचार और अनुभव साझा किए। पैकरा ने बताया कि उन्होंने स्वयं गांव में लोगों को संगठित कर तालाब बनवाया, जिसमें गर्मीयों के दिनों में भी चार फीट पानी उपलब्ध रहता है। कार्यशाला में एनआईटी के एमटेक और रिसर्च कर रहे विद्यार्थी भी शामिल हुए। कार्यशाला के तकनीकी सत्र में सात विषयों पर विषय विशेषज्ञों द्वारा अपने आलेख प्रस्तुत किए गए। इस अवसर पर इंडियन वाटर वर्क्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. राजेश गुप्ता (व्ही.एन.आई.टी. नागपुर), श्री दीवान (एनआईटी रायपुर) , लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के प्रमुख अभियंता श्री टी.जे. कोसरिया, इंडियन वॉटर वर्क्स एसोसिएशन छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष डॉ. एम.एल. अग्रवाल और पूर्व प्रमुख अभियंता श्री आर.एन. गुप्ता भी मौजूद थे। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कई अभियंताओं ने भी कार्यशाला में हिस्सा लिया।

 

 

error: Content is protected !!