जनदर्शन मे कलेक्टर ने सुनी दूर दराज क्षेत्र से आए ग्रामीणों कि समस्याएं

 

अधिकारियों को दिये त्वरित निराकरण करने के निर्देश

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया) जिले के दूर-दराज क्षेत्रो से आने वाले लोगो की समस्याओं को जानने और समाधान करने के लिए आज यहाॅ जिला कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में जिला जनदर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कलेक्टर नरेंद्र कुमार दुग्गा ने जनदर्शन कार्यक्रम में दूर-दराज क्षेत्र से पहुचें ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और उन्होने ग्रामीणों की समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये।
जनदर्शन कार्यक्रम में विकासखण्ड बैकुण्ठपुर के ग्राम अमहर के निवासी श्रीमती चंदाबाई ने आवेदन देकर बताया कि विगत दिवस बिना कारण के ग्राम के ही अनावेदक द्वारा मारपीट और गाली-गलौज की गई। जिसकी शिकायत थाना पटना में दर्ज कराई गई। लेकिन थाना प्रभारी द्वारा अब तक कोई कार्यवाही नही की गई। कलेक्टर दुग्गा ने उनके आवेदन को गंभीरता से लिया और जाॅच उपरांत आवश्यक कार्यवाही करने का भरोसा दिलाया। इसी तरह विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ के ग्राम सेमरा के निवासी ने आवेदन देकर बताया कि उनके पति की आकस्मिक मृत्यु विगत दिवस हो गया है। जिसके कारण उन्हें जीवन यापन में कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। इस हेतु उन्होनें राशन कार्ड पुनः जारी करने और सामाजिक सुरक्षा पेंशन दिलाने की मांग की। कलेक्टर दुग्गा ने जाॅच उपरांत आवश्यक कार्यवाही करने का भरोसा दिया। जनदर्शन कार्यक्रम में विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ के ग्राम चम्पाझर की निवासी श्रीमती चम्पादेवी ने वर्ष 2015-16 की अप्राप्त सूूखा राहत अनुदान राशि प्रदान करने की मांग की। उन्होनें आवेदन देकर बताया कि उनके नाम पर छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक पटना में सूखा राहत अनुदान की राशि जमा होने की जानकारी दी गई है। लेकिन अब तक उनके बैंक खाता में राशि का अंतरण नही हो पाया है। जिसके कारण उन्हें आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कलेक्टर दुग्गा ने उनके आवेदन को गंभीरता से लिया और जाॅच उपरांत आवश्यक कार्यवाही करने की भरोसा दिया। इसी तरह विकासखण्ड बैकुण्ठपुर के ग्राम पूटा के निवासी हरवंषलाल ने आवेदन देकर बताया कि वर्ष 2016 में सर्प काटने से उनके एक बैल का आकस्मिक मृत्यु हो गया था। उन्होनें राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधानों के तहत मुआवजा राशि हेतु उनके द्वारा सम्पूर्ण दस्तावेज तहसील कार्यालय बैकुण्ठपुर में जमा किया गया है। लेकिन अब तक उन्हें मुआवजा राशि प्राप्त नही हुआ है। उन्होनें मुआवजा राशि की मांग की। कलेक्टर दुग्गा ने जाॅच उपरांत मुआवजा राशि दिलाने का आस्वासन दिया। इसी तरह पैतृक जमीन का नामांतरण, सीमांकन, बंटवारा, जाति, आमदनी, निवास, नवीन राशन कार्ड, राशनकार्ड में नाम जोडने, वन अधिकार पत्रक, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, स्वयं की भूमि का बिक्री करने की अनुमति, राहत राशि, निःशक्तता प्रमाण पत्र, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराने, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत मामूली दर पर घरेलू रसोई गैस उपलब्ध कराने, मनरेगा के तहत मजदूरी भुगतान आदि के संबंध में भी आवेदन पत्र प्रस्तुत किये गये। कलेक्टर दुग्गा ने सभी के आवेदन पत्रों को गंभीरता से लिया और जांच उपरांत आवश्यक कार्यवाही करने का भरोसा दिया। इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती तुलिका प्रजापति, अपर कलेक्टर आर.ए.कुरूवंषी, संयुक्त कलेक्टर एस.पी.उपाध्याय, विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी, सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं नगरीय निकायों सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!