ठेकेदार की मनमर्जी से त्रस्त ग्राम पंचायत मनवा के ग्रामीण पहुंचे जनदर्शन

०० मनवा ग्राम के सरपंच तथा नागरिकों ने ठेकेदार के आतंक से मुक्ति दिलाने कलेक्टर से लगायी गुहार

०० काली सूची में दर्ज है ठेकेदार का नाम, काम रोकने के आदेश के बाद भी कर रहा जबरन काम

बिलासपुर। काली सूची में दर्ज ठेकेदार और उसके सामने नतमस्तक पीडब्ल्यूडी के रवैये से नाराज मनवा ग्राम के सरपंच तथा नागरिकों ने कल बिलासपुर जनदर्शन में आवेदन लगा कर मांग किया है कि  तकनीकी रूप गलत डिज़ाईन से बने पुल का काम तत्काल बंद कराया जाए और ग्रामीणों को ठेकेदार के आतंक से मुक्ति दिलाई जाए।

राज्य की जीवन रेखा शिवनाथ नदी पर एक नया पुल बन रहा है। जो मस्तुरी ब्लाक के ग्राम मनवा से बलौदाबाजार जिले के कसडोल गांव को जोड़ेगा। ब्रीज का काम पीडब्ल्यूडी विभाग के कराया जा रहा है। ठेकेदार विभाग पर इस तरह भारी है कि विभाग द्वारा कार्य रोक दिए जाने के बाद भी काम करे जा रहा है। विभाग ने यह काम अशोक मित्तल जो कि ए-3 श्रेणी के ठेकेदार को दिया है। ठेकेदार के गुणवत्ता विहिन काम की शिकायत विभाग के उप अभियंता एवं एसडीओ ने स्वयं की थी। उच्च अधिकारियों द्वारा काम को रोकने का निर्देश दे दिया गया है। किन्तु ठेकेदार काम को नही रोकता। यहां तक की विभाग ने मुरूम डालने से भी मना किया है। किन्तु ठेकेदार बिना मिट्टी का परिक्षण कराए अन्य गांव से मिट्टी ले कर निर्माण स्थल पर डाल रहा है। यह पुरी मुरूम बिना रायल्टी खोदकर लाई जा रही है। वहीं जिस ग्राम पंचायत (मनवा) में यह काम चल रहा है वहां के सुखे तालाब की मिट्टी को अपयोग में नही लाया जा रहा है। मनवा गांव के सरपंच का कहना है कि करोड़ों की लागत से पुल का काम चल रहा है। किन्तु गांव के एक भी नागरिक को रोजगार का अवसर नही मिला। युपी बिहार के मजदूरों को काम पर रख कर मनवा गांव की मजदूरों को बाहर का रस्ता दिखाया गया। बाहरी मजदूरों के बड़ी संख्या में काम करने से इस छोटे से गांव का वातावरण खराब हो रहा है। सरपंच ने कहा कि शीघ्र ही यदि काम बंद नही होने से ग्रामीणों में आक्रोष है, तथा यह आक्रोष किसी दिन बड़ी घटना में तब्दील हो सकता है।

पुल का काम स्थानीय ग्रामीणों से ना कराकर बाहरी श्रमिकों से कराया जा रहा है। गांव की मुरूम का विधिवत रायल्टी देना पड़ेगा इसलिए अन्य जगह से अवैध तरीके से मिट्टी लाई जा रही है। हमने पहले इन तथ्यों की शिकायत पीडब्ल्यूडी को की थी। अधिकारी स्वयं जांच पर आए थे। उन्होंने पुल की डिज़ाइन को ही गलत बताया। निर्माण में जगह-जगह क्राॅस के चिन्ह लगाए है। सरकारी तौर पर काम बंद है पर ठेकेदार किसी की नही सुनता है और काम चल रहा है

राम कुमार पटेल, सरपंच, ग्राम पंचायत मनवा

error: Content is protected !!