कोरिया जिले के हड़ताली शिक्षाकर्मी हुए निलंबित

 

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया) बैकुंठपुर जिला पंचायत ने हड़ताली शिक्षकों के विरूद्ध एक बड़ी कार्यवाही करते हुए पंचायत संवर्ग के 20 शिक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती तूलिका प्रजापति ने बताया कि अभी यह पहली कार्यवाही है आगे हड़तालियों के विरूद्ध और कड़ी कार्यवाही जल्द व्यापक स्तर पर की जाएगी। 20 शिक्षकों के निलंबन के बारे में जानकारी देते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी ने बताया कि कोरिया कलेक्टर नरेन्द्र कुमार दुग्गा के निर्देशानुसार जिले से बिना अनुमति के हड़ताल में गए शिक्षक पंचायत को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किए गए थे। गत 27 नवंबर से सभी शिक्षक अनाधिकृत रूप से आंदोलन में शामिल थे और इससे शैक्षणिक कार्य प्रभावित हो रहा था। कारण बताओ सूचना पत्र के समय अवधि में जवाब न देने पर पंचायत संवर्ग के 20 शिक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है। जिला पंचायत की मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्रीमती तूलिका प्रजापति ने बताया कि यह कार्यवाही छत्तीसगढ़ पंचायत सेवा आचरण नियम 1998 के विपरीत पाए जाने पर छत्तीसगढ पंचायत शिक्षक संवर्ग भर्ती एवं सेवा की शर्त नियम 2012 तथा छत्तीसगढ़ पंचायत सेवा अनुशासन तथा अपील नियम 1999 के तहत की गई है।

जिन पंचायत संवर्ग के 20 शिक्षकों को हड़ताल करने की वजह से तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है उनमें भरतपुर विकासखण्ड के शिक्षक पंचायत हरफरा विद्यालय में पदस्थ उदय प्रताप सिंह, पीपरडांड विद्यालय में पदस्थ गंगाधर पाडे,  पटना विद्यालय में पदस्थ अशोक गुप्ता, अमहर में पदस्थ अशोक शर्मा और बुदेली विद्यालय में पदस्थ बृजेश शर्मा शामिल हैं। साथ ही व्याख्याता पंचायत संवर्ग के जिन शिक्षकों को निलंबित किया गया है उनमें शासकीय उच्चतर माघ्यमिक विद्यालय भरतपुर के सच्चिदानंद साहू शासकीय उच्चतर माघ्यमिक विद्यालय मनसुख बैकुण्ठपुर के व्याख्याता पंचायत हरिकांत अग्निहोत्री, शासकीय उच्चतर माघ्यमिक विद्यालय कुड़ेली के चेतनारायण सिंह, शैलेन्द्र कुमार गुप्ता, शासकीय उच्चतर माघ्यमिक विद्यालय सारा के महेश शिवहरे, शासकीय विद्यालय झरनापारा के अशोक पैकरा, मनेन्द्रगढ़ के शासकीय विद्यालय बुदेली संजय ताम्रकार, अयूब लाल, शासकीय विद्यालय सुंदरपुर सोनहत जनपद अंतर्गत कार्यरत अनिल चंद्र बंजारे केशगंवा के रामजूठन साहू, कटगोड़ी के ईश्वर लाल राजवाड़े, शासकीय विद्यालय भरदा के मधुसूदन साहू, उधनापुर विद्यालय से डेगमन राम राजवाड़े, के प्रफुल्ल रेडडी और खड़गंवा के प्रमोद कुमार पाडे शामिल हैं। निलंबित शिक्षकों का मुख्यालय उनके विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी का कार्यालय नियत किया गया है। निलंबन की अवधि में उन्हे जीवन निर्वाह भते की पात्रता होगी।

error: Content is protected !!