सर्चिंग में मिले भारी मात्रा में नक्सली हथियार और गोलाबारूद

रायपुर/भिलाई| छत्तीसगढ़ को नक्सलमुक्त करने के अभियान में लगे सीमा सुरक्षा बल को अपने अभियान में लगातार कामयाबी मिल रही है। बीते दिन मन्हाकाल के जंगलों में बीएसएफ ने नक्सलियों के छुपाए हथियारों और गोलाबारूद को ढूंढ निकाला।बीएसएफ को लगातार सूचना मिल रही थी कि नक्सलियों ने जंगलों में हथियार छुपा रखे हैं। जिसके बाद टीम ने अपनी सर्चिंग और तेज की और इन हथियारों को जप्त कर लिया। यह सर्च ऑपरेशन बीएसएफ की 175 वीं बटालियन ने किया था।

बीएसएफ के प्रवक्ता ने बताया कि नक्सलियों ने अपने नापाक इरादों एवं बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए जंगलों में अपने हथियार गोला बारूद छुपा रखे थे। जिन्हें बीएसएफ ने अपने कुशल प्रशिक्षण,और मजबूत सूचना तंत्र की वजह से बरामद कर अपने जवानों सहित आम जनता को होने वाले नुकसान से बचाया। बीएसएफ कुशल नेतृत्व की वजह से कांकेर क्षेत्र में नक्सली गतिविधियों पर काफी अंकुश लग चुका है। पहले भी कई बार नक्सलियों ने बल को नुकसान पहुंचाने के लिए कई बार प्रयास किया परन्तु सजग प्रहरियों ने हर बार उन्हें नाकाम कर दिया। बीएसएफ ने जो सामान जप्त किया है।उसमें पिस्तौल, बम, डेटोनेटर, ड्यूब लांच सहित अन्य लैंड माइंस बिछाने के काम आने वाले सामान भी शामिल है। टीम का मानना है कि इतनी मात्रा में ऐसे सामान इक्ट्ठा कर वे आने वाले समय में कोई बड़ी घटना को अंजाम देने की कोशिश में लगे थे,लेकिन उनकी सारी योजनाओं पर जवानों ने पानी फेर दिया।नक्सलियों के पास से 51 मिमी मोर्टार एचईबाम्ब-दो, यूबीजीएल ग्रेनेड- दो, देशी पिस्तौल-एक, ग्रेनेड 36-1, ट्यूब लॉन्च-दो, इलैक्ट्रिक डेटोनेटर-30, 7.62 मिमी एएमएन-10, 7.62 मिमी एके एएमएन -38, 315 बोर एएमएन – पांच नंबर, 7.62 मिमी एसएलआर -05 नोस बेओननेट- एक, प्वाइंट 22 अम्न-93, एचई बम कैप-03 नंबर, 7.62 मिमी ईएफसी-9 नग के सामान शामिल है।

error: Content is protected !!