कोरिया जिले के जनपद पंचायत सोनहत के ग्रामीण सरपंच सचिव के मनमानीयों से है। परेसान गांव के विकास की ओर नही दे रहे है। ध्यान

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया)
एक ओर जहां राज्य सरकार  गांव के समुचित विकास के लिए हर साल लाखों करोड़ो रुपए खर्च कर रही,गांव के विकास के लिए विभिन्न योजनाए चलाई जा रही ताकि गांव के ग्रामीणों को शहर जैसी सुविधा मुहैया कराया जा सके तो वही सरपंच,सचिव,सहायक सचिव की मेहरबानी से शासन की योजनशाओं पर लग रहा पलीता हम बात कर रहे है। कोरिया जिले के सोनहत विकासखण्ड के केशगवा ग्राम पंचायत की जहा  विकास कार्यो  को पलीता लगाने में सचिव,सरपंच ने कोई कसर नही छोड़ी,गांव के ग्रामीणों ने बताया कि यहाँ विकास से संबंधित निर्माण कार्य सीसी रोड,नाली निर्माण,प्रधान पाठक कक्ष अन्य सालो से अधूरे अटके हुए है मनरेगा के तहत किए गए निर्माण कार्यो की मजदूरी भुकतान के लिए जिला जनदर्शन से लेकर स्थानीय कार्यालयों का चक्कर लगा रहे तो वही रोजगार सहायक भी मजदूरी दिलाने के वजाय ये कहते नजर आते है कि अब मजदूरी भुकतान नही होगा जितना हुआ हो गया ग्रामीणों ने रोजगार सहायक पर ये भी आरोप लगाया कि जॉब कार्ड बनाने के नाम पर ग्रामीणों से 70 – 70 रुपए अवैध रूप से वसूला गया है और आज तक अधिकांस जॉब कार्ड बना नही जिससे ग्रामीणों को मनरेगा के तहत काम नही मिल रहा।
पूरे मामले को जब नव पदस्थ जनपद सीईओ के संज्ञान में लाया गया तो उन्होंने जाँच उपरांत कड़ी कार्यवाही की बात कही।

error: Content is protected !!