शिक्षाकर्मियो का संविलियन नहीं पर सरकार चर्चा को तैयार : चंद्राकर 

 

00 गुणवत्ताहीन शौचालय निर्माण नागरिकों की चूक : पंचायत मंत्री

रायपुर। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत हो रहे शौचालय निर्माण में गुणवत्ताहीन के मामलों में स्वयं नागरिकों की चूक है। नागरिक अगर संबंधित निर्माता को रोके तो निर्माण कभी भी गुणवत्ताहीन नहीं होगा। इसके लिए विभाग की कोई जिम्मेदारी नहीं है। स्वयं जनता जिम्मेदार है। ये बातें शनिवार को प्रदेश के पंचायत और स्वास्थ्य मंत्री अजय चन्द्राकर ने कही।
उन्होंने सरकार के पंचायत और स्वास्थ्य विभाग की 14 साल की उपलब्धियां रखी। चन्द्राकर ने कहा कि, प्रदेश में संचालित हमर छत्तीसगढ़ योजना एक अभिनव योजना है, जिसके माध्यम से प्रदेश के सुदुर अंचल के ग्रामीण भी राजधानी रायपुर का भ्रमण कर प्रदेश के इतिहास के बारे में जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। इस दौरान अब तक प्रदेश के विभिन्न गांवों से 1 लाख 10 हजार ग्रामीण हमर छत्तीसगढ़ अध्ययन केन्द्र का भ्रमण कर चुके हैं। यह निरंतर जारी है। इस दौरान कई ऐसे ग्रामीण जन-प्रतिनिधी भी रायपुर पहुंचे हैं, जिन्होंने न तो कभी विमानतल देखा था न विधानसभा। प्रदेश सरकार ग्रामीणों के इस सपने को भी साकार कर रही है।
प्रधानमंत्री आवास योजना के आंकड़े : उन्होंने जानकारी दी कि, प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत वर्ष-2011 की जनगणना के अनुसार 1 कमरे वाले 10 लाख मकानों की आवश्यकता थी, जिसे पिछले तीन वर्षों में पहले वर्ष 2 लाख 32 हजार 906, दूसरे वर्ष 2 लाख 6 हजार 372 और तीसरे वर्ष में 1 लाख 84 हजार 546 मकान बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के तहत 1 लाख 33 हजार 731 पक्के मकानों का निर्माण किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि, प्रदेश के 20 गांवों को सम्पूर्ण खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) घोषित किया जा चुका है। वहीं 20 जिलों के 142 विकासखंडों को आने वाले डेढ़ साल में खुले में शौच मुक्त घोषित किया जाएगा। इससे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान के डेढ़ वर्ष पूर्व ही प्रदेश खुले में शौच मुक्त घोषित हो जाएगा। चन्द्रकार ने स्वास्थ्य विभाग की उपलब्धियों पर कहा कि, प्रदेश में मलेरिया की परिधी कम करने की स्कीम अपनाई जा रही है। इस नजरिए से प्रदेश देश का पहला राज्य है। पूरे देश में छत्तीसगढ़ की स्वास्थ्य बीमा योजना मॉडल योजना है, जिसे अब बिहार और जर्मनी के विशेषज्ञों ने अपनाने की इच्छा जताई है। इसके लिए उनकी टीम ने प्रदेश की इस सुविधा का अध्ययन भी किया है। बहुत जल्द इसे बिहार में लागू भी कर दिया जाएगा। इसे भारत सरकार ने भी मॉडल योजना कहा है। साथ ही पूरे देश में स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य है।
उन्होंने कहा कि, बस्तर संभाग के सभी जिलों में हाईटेक जिला अस्पताल की निर्माण कराया जा रहा है। बीजापुर का जिला अस्पताल पूरे जिला अस्पतालों के लिए मॉडल है। बस्तर संभाग के जिन जिला अस्पतालों में सुविधाओं की कमीं है उन्हें आने वाले समय में अपडेट किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में सेवाओं और फैकलिट की कमीं को सबसे बउ़ी चुनौती स्वीकार किया है। हम आने वाले समय में शासकीय अस्पतालों में नि:शुल्क डायग्रोसिस की सुविधा मुहैय्या कराई जाएगी।

संविलियन नहीं पर सरकार चर्चा को तैयार : चंद्राकर
पंचायत मंत्री अजय चन्द्राकर ने शिक्षाकर्मियों के लगातार जारी हड़ताल पर कहा कि, उनकी मांगों पर सरकार चर्चा करने को तैयार है। सिर्फ संविलियन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, मुझे ऐसी सूचना मिली है कि, सभी शिक्षाकर्मी संघ के पदाधिकारी रविवार को मुझसे मुलाकात करेंगे। इस दौरान भी उनसे यही चर्चा की जाएगी।

error: Content is protected !!