गुरुजनों के साथ सरकार के तानाशाही रवैये का नितिन भंसाली ने किया कड़ा विरोध

रायपुर| जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रवक्ता व नेता नितिन भंसाली ने छत्तीसगढ़ में गुरूजनों पर हो रहे सरकार द्वारा अत्याचार पर रोश प्रकट किया है। अव्वल तो उन्होंने शिक्षाकर्मियों को गुरूजन संबोधित करते हुए अपील की है कि शिक्षा देने वाले कर्मी नहीं गुरू होते हैं और 80 हजार करोड़ रुपए की बजट वाली रमन सरकार राज्योत्सव मना सरकती है, चुनावी माहौल में मोबाइल फोन बांट सकती है, परन्तु गुरूजनों की मांगों को पूरा नहीं कर सकती है। 2003, 2008, 2014 में अपने घोषणा पत्र में किये गये वादों की वादा खिलाफ़ी करते हुए सत्ता के मद में चूर रमन सिंह की भाजपा सरकार को छत्तीसगढ़ के गुरूजनों की कोई चिंता नहीं है। गुरूजनों की गिरफ्तारी बहुत ही शर्मनाक है। गुरू को बेड़ियाँ नहीं पुष्प अर्पित करते हैं परंतु घमंडी भाजपा सरकार और संस्कारों का दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं है।भंसाली ने कहा कि जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सत्ता में आते ही गुरूजनों की मांगें तत्काल प्रभाव से मानी जाएंगी।

error: Content is protected !!