कांग्रेस की सरकार बनने पर सर्वप्रथम शिक्षाकर्मियो का किया जायेगा संविलियन : भूपेश बघेल

०० हड़ताली शिक्षाकर्मियो से मिलकर भूपेश ने किया समर्थन, रमन सरकार पर साधा निशाना  

बिलासपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने डॉ. रमन सिंह पर जमकर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि रमन सिंह ठग है, रमन ने राज्य की सत्ता पाने के लिए शिक्षाकर्मियों को तीन बाद ठगा। अब रबी  फसल के लिए अनुमति की अनिवार्यता कर किसानों पर ज्यादती की जा रही है। कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल मंगलवार दोपहर करीब तीन बजे नेहरू चौक स्थित शिक्षाकर्मियों के धरना स्थल पहुंचे। यहां उन्होंने शिक्षाकर्मियों के आंदोलन का समर्थन किया। उन्होंने उनकी लड़ाई को जायज बताते हुए पीछे नहीं हटने की सलाह दी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि भाजपा ने हर चुनाव में शिक्षाकर्मियों को संविलियन का सब्जबाग दिखाया, इसी सब्जबाग के सहारे सत्ता पर भी आ गई। जब वायदा निभाने की बारी आई तो मुकर गए। अब शिक्षाकर्मी अपनी मांग पूरी कराने के लिए आंदोलन कर रहे हैं तो उन पर बर्खास्तगी जैसी कार्रवाई की जा रही है। यह शिक्षाकर्मियों के साथ अन्याय है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को अपने चुनावी घोषणा पत्र में किए गए वायदे के अनुसार शिक्षाकर्मियों का संविलियन करना चाहिए। यदि भाजपा सरकार इनकी मांग नहीं मानती है तो 2018 के चुनाव में जब कांग्रेस सत्ता पर आएगी तो प्राथमिकता के आधार पर शिक्षाकर्मियो का संविलियन किया जाएगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने किसानों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि रमन सरकार ने रबी फसल लेने के पहले किसानों को अनुमति लेने की अनिवार्यता कर दी है। किसान धान नहीं उगाएंगे तो क्या करेंगे वे अनुमति क्यों लें। अनुमति तब ली जाती, जब अफीम की फसल करते। उन्होंने भाजपा सरकार को उद्योगपतियों की हितैषी करार देते हुए कहा कि सरकार के पास किसानों के लिए पानी नहीं है और उद्योगों के लिए पानी-बिजली सारी चीजें हैं। किसान भी अब यह अन्याय नहीं सहेंगे।शिक्षाकर्मियों के धरना स्थल पर कोरबा विधायक जय सिंह अग्रवाल, कांग्रेस नेता शैलेष पांडेय, अटल श्रीवास्तव, नरेंद्र बोलर, राजेंद्र शुक्ला व अन्य कांग्रेस नेता मौजूद थे।

error: Content is protected !!