राज्य के वित्तीय स्थिति पर स्वेत-पत्र जारी करे सरकार, राज्य आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है : कांग्रेस

रायपुर| प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने अगस्ता हेलिकाप्टर खरीदी प्रक्रिया पर चिंता जाहिर की और कुछ गंभीर सवाल खड़ा किये है। इन्हीं सवालों का कैग की रिपोर्ट में भी स्पष्ट रूप से उल्लेख है। विधानसभा की लोक-लेखा समिति ने भी इन्हीं सब अनियमितताओं पर शासन से जानकारी मांगी। कांग्रेस पार्टी ने भी प्रेसवार्ता कर हेलिकाप्टर खरीदी की प्रक्रिया में हुई गड़बड़ी का मामला जोर-शोर से उठाया था। कमीशन का पैसा के लिये ही अभिषेक सिंह के नाम से विदेशों में खाता खोला गया जिसे बचाने का प्रयास सरकार की ओर से चल रहा है।

पत्रकारो से चर्चा करते हुये भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के अब तक सबसे बड़े नान घोटाले में हुये भ्रष्टाचार के सारे सूत्र मुख्यमंत्री निवास की ओर संकेत करने के कारण मामले के संबंधित दोषियों को बचाने के पूरे प्रयास हो रहे है। यही कारण है कि प्रमुख आरोपी की जमानत याचिका सुप्रीम कोर्ट में लगी है, इस बात की जानकारी सरकार और एसीबी को थी लेकिन सरकार विरोध नहीं किया गया, इस कारण आरोपी को एक्स-पार्टी जमानत मिल गयी। मुख्यमंत्री के परिजनों को बचाने नान के आरोपी की जमानत होने दिया, इसके साथ हेलिकाप्टर खरीदी में हुये अनियमितता का तार सीधे अभिषाक सिंह से जुड़े होने के कारण हीरीश साल्वे, वेणुगापोल और महेश जेठमलानी जैसे देश के नामचीन वकील लगाकर बचाने में जुटी हुई है भाजपा सरकार।इसके अलावा उन्होने विधानसभा के शीतकालीन सत्र की अवधि को मात्र चार दिन किये जाने पर सवाल खड़ा करते हुये सरकार को घेरा और कहा कि भाजपा सरकार विधानसभा के चर्चा से भागती है। सरकार आकंठ भ्रष्टाचार में डूबी है। वह विधानसभा में विपक्ष के सवालों का जवाब दे सकने की स्थिति में नहीं है, यही कारण है कि पिछला पावस सत्र 10 दिन की बजाय 2 दिन में समाप्त कर दिया था। अब शीतकालीन सत्र में पुल, पुलिया, सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार पर चर्चा चाहते है। किसान, शिक्षाकर्मी, रसोईयां, आंगनबाड़ी की समस्याओं, राज्य सूखे की भयावह हालत, किसान आत्महत्या पर विस्तृत चर्चा न हो सके इसलिये विधानसभा का सत्र संक्षिप्त किया गया। भाजपा का चरित्र अलोकतांत्रिक है। केन्द्र में भी लोकसभा का शीतकालीन सत्र बुलाने की बाते हुई, राज्य में भी वही हालात है। भाजपा सरकार किसानों को रबी फसल में धान लगाने पर प्रतिबंध लगा रही है। धान की खेती कब से अफीम, चरस की खेती हो गयी जो उसमें प्रतिबंध लगाया जा रहा है। उद्योगों को पानी दे सकते है, किसानों को नहीं। संवधानिक प्रावधनों को धता बता कर आईएएस अधिकारियों के ऊपर फेलोशिप प्रोफेशनल को बैठा दिया, उनका क्या अनुभव है? क्या वे आईएएस से ज्यादा योग्य है? किसान आत्महत्या कर रहे सरकार उत्सव मना रही है। मुख्यमंत्री के काफिले के लिए खरीदे जा रहे 16 नई महंगी गाड़ी के संदर्भ में पत्रकारो द्वारा पूछे गये सवालों का जवाब देते हुए पीसीसी अध्यक्ष ने कहा कि आज प्रदेश में भारी वित्तिय संकट की स्थिति है मिली जानकारी के तहत गत माह वित्तीय संस्थानों से कर्ज लेकर कर्मचारियों के वेतन का भुगतान किया गया था ऐसे में 16 महंगी गाड़ियों को मुख्यमंत्री काफिले की लिए खरीदे जाने का निर्णय कतई उचित नही है। सरकार को राज्य की वितीय हालात पर स्वेत पत्र जारी करना चाहिये।

 

error: Content is protected !!