पत्रकार पर किया गया जानलेवा हमला, पुलिस ने किया जुर्म दर्ज

०० पत्रकारों पर हो रहे लगातार हमले , पत्रकार सुरक्षा कानून पर शासन प्रशासन मौन

०० पत्रकार सुरक्षा कानून तत्काल लागु कर पत्रकारों को दिलाया जाए न्याय : गोविन्द शर्मा

करगी रोड कोटा| देश के चौथे स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकारों की जमात व पत्रकारों की जान खतरे में दिखाई पड़ रही है आए दिन अखबारों की सुर्खियां में पत्रकारों को धमकी खबर प्रकाशन के मामले में धमकी कई दिनों इस तरह की खबरें प्रिंट मीडिया में दिखाई पड़ती है गलत चीजों को अगर मीडिया प्रमुखता से उठाती है तो उससे अवैधानिक कार्यों में रुकावट पढ़ती है वह गलत तरीके से कार्यों को की खबर प्रकाशन के मामले में पिछले दिनों गोबरीपाट के सरपंच पति द्वारा गोबरीपाट के पत्रकार को देख लेने, जान से मारने की धमकी दी गई थी जिसकी खबर को प्रमुखता से अखबारों ने छापी थी जिसके बाद कोटा पुलिस विभाग ने लिखित शिकायत पर त्वरित करवाई कर सरपंच पति को धारा 151 के तहत जेल दाखिल किया गया था इसी कड़ी में 1 दिन पहले वार्ड नंबर 7 बाजार पारा नया बस स्टैंड में आए दिन जुआ और सट्टा के वजह से स्थानी व्यापारी वार्ड वासी व वार्ड का युवा वर्ग इस लत के दलदल में घुसता ही चला जा रहा है आए दिन जुआ और सट्टा के नाम से विवाद होता रहता है।जिसके वजह से स्थानीय निवासी वार्ड व्यापारी बस स्टैंड में आने जाने वाले यात्री प्रभावित होते हैं।
बीते दिन जुआ खेलने व खिलाने के कारण कुछ विवाद हो जाने से लड़ाई झगड़ा मारपीट होने की नौबत आ गई और जमकर मारपीट भी हुई जिसकी वजह से स्थिति तनावपूर्ण हो गई वार्ड नंबर 7 बाजार पारा में इन दिनों सट्टा और जुआ का जोर चल रहा है कोटा पुलिस द्वारा सट्टा जुआ बंद कराने की भरपूर कोशिश की जा रही है कोटा एसडीओ विश्व दीपक त्रिपाठी व नगर निरीक्षक कृष्णकांत सिंह द्वारा एक तरह से अभियान चलाया जा रहा है, धरपकड़ की जा रही है इसी कड़ी में वार्ड नंबर 7 बाजार पारा बस स्टैंड में जुआ को लेकर काफी नोकझोंक तक हुई मारपीट भी हुई बीच-बचाव करने पर नया इंडिया के कोटा संवाददाता मोहम्मद जावेद खान के साथ मारपीट की गई वार्ड के ही रहने वाले अकरम खत्री आजम खत्री द्वारा लाठियों से मारपीट की गई विरोध करने पर गाली गलौज तक की गई साथ ही पत्रकारिता के बारे में अपशब्द कहे गये वार्ड वासी मोहम्मद तोहीद खान पिता मोहम्मद शहीद खान उम्र 32 वर्ष के ऊपर भी प्राणघातक हमला किया गया जिससे उसकी स्थिति काफी गंभीर हो चली है स्थिति को गंभीर देखते हुए तत्काल नया इंडिया के संवाददाता मोहम्मद जावेद खान द्वारा कोटा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां पर डॉक्टरों ने बिलासपुर सिम्स रिफर किया गया गंभीर रूप से घायल मोहम्मद तौहीद खान जो कि पेशे से मोटर मैकेनिक है वर्तमान में बिलासपुर सिम्स में एडमिट हैं सर चेहरे वह दातों में गंभीर चोट आई है जिसका इलाज किया जा रहा है वहीं पर नया इंडिया के कोटा संवाददाता मोहम्मद जावेद खान के पैरों में लाठियों से प्रहार किया गया इसके बाद नया इंडिया के संवाददाता मोहम्मद जावेद खान द्वारा कोटा थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई डॉक्टरों के मुलाहिजा कराने के बाद कोटा पुलिस ने धारा 294 506 323 34 के तहत अकरम खत्री आजम खत्री के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना जारी की।साथ ही गभीर रूप से घायल मो.तौहीद खान के हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने के बाद रिपोर्ट के बाद धाराओं में परिवर्तन किया जा सकता है,मो तौहीद द्वारा इस बारे में पूछने पर की आपके ऊपर हमला क्यो किया गया इस बारे मे उन्होंने विस्तार पूर्वक बताया कि रोज की तरह बस स्टैंड आता हूं,और कुछ देर बाद निकल जाता हूं, मैं बस स्टैंड पर बैठा ही था कि अचानक हो हल्ला होने लगा हाथ मे लाठी लिए हुय अकरम खत्री द्वारा अपने भाई आजम खत्री के साथ मारपीट किया जा रहा था उस दौरान मैं भी वही पर दूर में खड़ा था, अचानक अकरम खत्री द्वारा नेतागिरी करते हो कहते हुय पूरी ताकत से लाठी से सर पर वार किया गया जिससे मैं वही पर गिर पड़ा उसके बाद मुझे कुछ पता नही वही पर नया इंडिया के कोटा संवाददाता द्वारा बीच बचाव करने पर भी लाठी से पैरो पर वार किया गया।हाथ मे लाठी लिए अकरम खत्री कुछ सुनने को तैयार नही थे बस सामने जो कोई भी आता ताबड़तोड़ लाठी बरसाते रहते अकरम खत्री इतने ज्यादा आक्रोशित थे कि वो समझ ही नही पा रहे थे वो क्या कर रहे है।कभी वो अपने भाई को मारते कभी वो नया इंडिया के संवाददाता को।नया इंडिया के संवाददाता द्वारा बचाव करने पर खत्री बंधुओं द्वारा फिर से लाठी हाथों से मारा जाता।फिलहाल पूरे मामले में कोटा पुलिस द्वारा अपराध दर्ज कर विवेचना जारी है।

पत्रकार पर हमला निंदनीय, तत्काल लागु ही पत्रकार सुरक्षा कानून :- अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द शर्मा ने कोटा के पत्रकार मोहम्मद जावेद खान के साथ हुई मारपीट व जानलेवा हमले की कड़ी निंदा करते हुए आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग प्रशासन से की है साथ ही पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमलो को देखते हुए शासन से तत्काल पत्रकार सुरक्षा कानून लागु किये जाने की मांग की है|

पत्रकारों पर लगातार हमले हो रहे है, जो बेहद निंदनीय है शासन प्रशासन को तत्काल पत्रकार सुरक्षा लागू कर पत्रकारों को राहत दिलाना चाहिए मगर सुरक्षा कानून लागु नहीं किया जा रहा है| कोटा के पत्रकार मोहम्मद जावेद खान के साथ सभी पत्रकार साथी साथ खड़े है|

गोविन्द शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष, अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़  

error: Content is protected !!