नौ सूत्रीय मांगो को लेकर शिक्षाकर्मी अनिश्चितकालीन धरने पर,  शैलेष पाण्डेय ने किया समर्थन

करगीरोड कोटा| कोटा विकासखंड में आज शिक्षक पंचायत नगरी निकाय मोर्चा द्वारा अनिश्चितकालीन धरना आंदोलन किया गया प्रदर्शन पर बैठे शिक्षक पंचायत कर्मियों का आज पूरे कोटा ब्लॉक स्तर पर शिक्षाकर्मियों का कोटा जनपद के सामने प्रदर्शन कर अपनी मांग रखा उन लोगों ने प्रदेश सरकार से अपनी यह मांग रखी है कि समान कार्य, समानवेतनमान, संविलीयन, शासकीयकरण, एवं क्रमोन्नत, सातवां वेतनमान सहित नव सूत्रीय मांग उन ब्लॉक स्तर पर धरना में बैठे शिक्षाकर्मियों का मांग था और आंदोलन पर बैठे शिक्षक पंचायतों का कहना है कि अगर प्रदेश सरकार उनकी नौ सूत्री मांगों को पूरा नहीं करेगा तो आने वाला समय में राज्य स्तर पर अनिश्चितकालीन धरना आंदोलन किया जाएगा|

शिक्षाकर्मियों का कहना है कि क्योंकि शिक्षा से ही दीक्षा की प्राप्ति होती है इसलिए सरकार हम लोगों की समस्याओं का निराकरण करें आज कोटा विकासखंड में धरना पर बैठे हैं  आने वाले समय में  राज्य स्तर पर धरना आंदोलन किया जाएगा कोटा विकासखंड में संकुल केंद्र की संख्या 22 संकुल केंद्र है  जिसमें लगभग 1300 शिक्षाकर्मी पदस्थ है कई जगह पर शिक्षक नहीं रहने पर ही स्कूलों में ताले लग गए बच्चों को खाना खिला के स्कूलों से प्रेरक के द्वारा छुट्टी दे दिया गया कहां जाए तो  स्कूल के बच्चों की पढ़ाई से खिलवाड़ किया जा रहा है अगर शिक्षक स्कूल में ही नहीं रहेंगे तो सौभावीक सी बात है कि बच्चों की पढ़ाई में कुछ-न-कुछ प्रभावित होगा!

कांग्रेस नेता शैलेष पाण्डेय ने किया समर्थन :- शिक्षाकर्मियों का अनिश्चितकालीन धरना आंदोलन में शैलेश पांडे जी जो कि डॉ. सीवी रमन विश्वविद्यालय कोटा के पूर्व कुलसचिव भी रह चुके हैं और वर्तमान में कांग्रेस के नेता है जो कि उन्होंने कहा है कि प्रदेश सरकार उन संविलीयन शिक्षाकर्मियों के मांग को प्रदेश सरकार को पूरा कर देना चाहिए, क्योंकि शिक्षा ही मनुष्य का अहम हिसा है और शैलेश पांडेय का कहना है कि मेरा उन शिक्षाकर्मियों के लिए पूर्ण रुप से सहयोग है कि उनकी नव सूत्रीय मांगों को प्रदेश सरकार पूरी करें|

 

error: Content is protected !!