मुख्य सचिव ने दिए सड़क निर्माण कार्य में तेजी लाने निर्देश  

रायपुर। राज्य शासन के मुख्य सचिव विवेक ढांड ने आज सोमवार को राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ जगदलपुर में बैठक की। इस दौरान बस्तर संभाग में चल रहे सड़क निर्माण सहित विभिन्न विकास कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने सुकमा जिले में निर्माणाधीन सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता से सम्बंधित शिकायत पाए जाने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने उच्चाधिकारियों को निर्माण स्थल में जाकर कार्यों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।
जगदलपुर कलेक्टोरेट के प्रेरणा कक्ष में हुई इस बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम, पुलिस महानिदेशक ए.एन. उपाध्याय, लोक निर्माण विभाग के सचिव सुबोध कुमार सिंह, कमिश्नर बस्तर संभाग दिलीप वासनीकर, पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद सिन्हा, उप पुलिस महानिरीक्षक पी सुन्दरराज और बस्तर संभाग के सभी सातों जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक सहित संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।विवेक ढांड ने बैठक में निर्माणाधीन सडकों का नियमित निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने वनांचलों में पुलिस हाउसिंग बोर्ड की ओर से निर्माणाधीन सड़कों का निर्माण गुणवत्ता के साथ जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने सुकमा कोंटा मार्ग का निर्माण मार्च 2018 तक हर हाल में पूर्ण करने के निर्देश दिए। अधिकारियों ने उन्हें बताया कि 78 किलोमीटर लम्बी इस सड़क में 29 किलोमीटर सड़क का निर्माण पूर्ण हो चुका है और यह कार्य निर्धारित समय में पूरा हो जायेगा। बारसूर-गीदम-दंतेवाडा-जगरगुंडा मार्ग के मार्च 2018 तक पूर्ण होने की जानकारी दिए जाने पर उन्होंने संतुष्टि व्यक्त की।पांच जिलों को जोडऩे वाले पल्ली-बारसूर मार्ग की धीमी गति पर उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए पल्ली से कन्हारगांव तक सड़क का निर्माण करने वाली एजेंसी केएलसी कन्स्ट्रक्शन को सड़क का निर्माण मार्च 2018 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्माण कार्यों के लिए ठेकेदारों से समयबद्ध कार्ययोजना मंगाकर उसके अनुरूप कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि समयबद्ध कार्यक्रम के अनुसार कार्य नहीं किया जाता, तो ठेका निरस्तीकरण का नोटिस देने के निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने बीजापुर- आवापल्ली-जगरगुंडा मार्ग के निर्माण की धीमी गति पर नाराजगी जाहिर करते हुए कार्य में गति लाने के निर्देश दिए। मुख्य सचिव की ओर से नानगुर-नेतानार-कोलेंग मार्ग के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की गई।लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 10 किलोमीटर तक जीएसबी का कार्य पूर्ण कर लिया गया है और 18 छोटे पुलिए भी निर्मित कर लिए गए हैं। उन्होंने संभाग में निर्माणाधीन पुलों के प्रगति की समीक्षा भी की। उन्होंने निर्माण कार्यों के लिए वन विभाग के क्लियरेंस से सम्बंधित मामलों की समीक्षा की और नियमानुसार क्लियरेंस प्रदान करने के निर्देश दिए।

 

error: Content is protected !!