खनिज विभाग के भ्रष्ट अधिकारी हो रहे मालामाल, ईमानदार अधिकारी पर हो रही कार्यवाही

०० खनिज माफियाओ को संरक्षण देकर करते है करोडो की वसूली

०० खनिज निरीक्षक वाहन चालक का है करोडो का बंगला जमीन

०० करोडो के सरकारी धनकुबेरो पर शासन नहीं कर रही है कार्यवाही  

बिलासपुर| जिले के खनिज खदानों के मुख्य तस्कर सहित विभिन्न क्षेत्रो से मुरुम, मिट्टी, गिट्टी, रेत, डोलोमाइट, कोयला सहित अवैध खदानों का संचालन, परिवहन व डिपो को संरक्षण देने वाले खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक पर पूर्व उपसंचालक खनिज का शह ख़त्म होने के बाद भी संचालक स्तर व संयुक्त संचालक की धौस व दबाव देकर अवैध रूप से वसूली का खेल खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक द्वारा किया जा रहा है| खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक अवैध वसूली कर करोडो की अकूत संपत्ति जिसमे बंगला, महंगी गाडियां, प्लाट, बेशकीमती जमीने सहित करोडो की काली कमाई कर रहे है, बावजूद इसके भ्रष्टाचार की सीमा लांघने वाले खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक के खिलाफ शासन द्वारा कार्यवाही नहीं किया जाना इन अधिकारियो को सीधा सीधा संरक्षण दिया जा रहा है|

जिले के खनिज विभाग में पदस्थ खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक द्वारा अवैध खनिज उत्खनन व परिवहन करने वालो से जमकर अवैध वसूली कर उन्हें संरक्षण देने के एवज में मोटी रकम की वसूली कर अकूत संपत्ति अर्जित की है, खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक द्वारा अवैध खनिज परिवहनकर्ताओ  को संरक्षण देकर मोटी रकम की वसूली तो की ही जा रही है मगर जो शासन के नियमानुसार खनिज उत्खनन व परिवहन कर रहे है उनको भी मोटी रकम की मांग की जाती है, वही खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक को रकम नहीं देने पर जबरन झूठे मामले में फ़सा दिया जाता है जिसके भय से खनिज निरीक्षक एवं वाहन चालक को मोटी रकम मज़बूरीवश देना खनिज व्यापारियों की मज़बूरी हो गयी है|विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खनिज निरीक्षक ने काली कमाई से अकूत संपत्ति बनायीं है जिसमे नगर के ग्रीन सिटी में एक बंगला, व प्लाट, मंगला में एक बंगला, अशोक नगर में बंगला, ग्राम भौहाकापा में बंगला एवं ग्राम में कई एकड़ कृषि जमीन, अंबिकापुर में आदिवासी व्यक्ति के नाम पर 50 एकड़ की जमीन, कोरबा में प्लाट, चकरभांटा में प्लाट सहित करोडो की संपत्ति बनाये जाने की जानकारी सामने आई है, इसी तरह खनिज निरीक्षक के साथ हमेशा अवैध वसूली करने वाले वाहन चालक के द्वारा अवैध वसूली कर साईधाम तोरवा में चार मंजिला मकान जिसमे महंगा फर्नीचर व राजस्थान (कोटा) से मंगाकर मार्बल लगाया गया है, तिफरा में कई आवासीय प्लाट, राजश्व कालोनी सरकंडा में प्लाट, देवरीखुर्द में मकान, कोटा के विभिन्न रिहायशी इलाको में प्लाट, तखतपुर तहसील के ग्राम भाठाकोनी में कई एकड़ कृषि जमीन व मकान सहित करोडो की अकूत संपत्ति अर्जित किया गया है|

error: Content is protected !!