कोटा नगर पंचायत के शौचालय निर्माण में किया गया करोडो का घोटाला

करगीरोड कोटा| कोटा नगर पंचायत में देश के माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सपनो की योजना स्वच्छ भारत मिशन को पूरी तरह से तार-तार कर दिया है। नगर पंचायत के भोले भाले आम नागरिकों के घर में शौचालय निर्माण को लेकर लाखों-करोड़ों का भ्रस्टाचार ठेकेदार तथा कोटा नगर पंचायत की मिलीभगत से किया गया है।

ज्ञात हो की नगर पंचायत ने ठेकेदार प्रदीप गुप्ता द्वारा नगर में तक़रीबन 1000 से अधिक शौचालय का निर्माण करवाया है जिसमे ठेकेदार प्रदीप गुप्ता द्वारा जमकर बेख़ौफ़ तरीके से भ्रस्टाचार किया गया है। वार्ड नं 02 में तो ठेकेदार ने कई हितग्राहियों से 10000-10000 रूपए लेकर डकार गया। तथा एक भी शौचालय सही गुणवत्ता के साथ निर्माण ठेकेदार ने नहीं कराया है सारे शौचालय गुणवत्ताहीन है।तथा इतना ही नहीं बल्कि बहुत से हितग्राहियों के यहाँ तो शौचालय का निर्माण ही नहीं कराया गया है केवल पुराने पहले से बने हुये शौचालय को ही रंगाई पुताई करके फ़ोटो खीँच कर शौचालय निर्माण की पूरी राशि ठेकेदार ने डकार ली। तथा हितग्राहियों को ठेंगा दिखा दिया।कोटा नगर पंचायत के इस शौचालय घोटाले ने न केवल स्वच्छ भारत मिशन योजना के नाम पर फर्जीवाड़ा किया है बल्कि पुरे नगर को शर्मशार कर के रख दिया है।ठेकेदार द्वारा इतनी घटिया गुणवत्ता के साथ शौचालय का निर्माण किया गया है कि प्रत्येक शौचालय प्रथम दृष्टया अमानक स्तर के प्रतीत होते है तथा भ्रस्टाचार की बुनियाद पर खड़े सभी शौचालय ऐसे प्रतीत होते है जैसे इनको हाथ से धक्का देने मात्र से ही धराशाई हो जायेंगे। शौचालय की दीवारेँ हाथ से धकेलने से ही गिर रही है। इन सारी बातो से अंदाज़ा लगाया जा सकता है की कोटा में किस कदर से शौचालय निर्माण में भ्रस्टाचार किया गया है तथा भोले मासूम हितग्राहियों को भी नहीं छोड़ा उनसे भी मुर्ख बना कर ठेकेदार डकार गया।जबकि इस शौचालय घोटाले से जिला प्रशासन भी पूरी तरह से अवगत है तमाम शिकायतें भी हो चुकी है किन्तु सभी बेअसर साबित हुयी है।

इसकी मुझे जानकारी नहीं है शिकायत की जांच कराई जाएगी संबंधित के खिलाफ कार्यवाही भी की जाएगी l
कुमारी सागर राज, सीएमओ, नगर पंचायत कोटा

 

error: Content is protected !!