पंचायत मंत्री की अध्यक्षता में धान खरीदी सहित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा

रायपुर| पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चन्द्राकर ने आज जांजगीर-चांपा कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक लेकर शासकीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। श्री चन्द्राकर ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू हो गई है। अतः पंजीकृत किसानों को धान बेचने में कोई छोटी-मोटी समस्याएं आती है तो अधिकारियों द्वारा उनका सहयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने विकास कार्यो की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देते हुए समय-सीमा में कार्य पूर्ण करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि गुणवत्ता पूर्ण कार्य करने वाले को प्रोत्साहित किया जाएगा, लेकिन किसी भी प्रकार की अनियमितता बर्दास्त नहीं की जाएगी।
जिले के प्रभारी मंत्री चन्द्राकर ने किसानों के धान खरीदी के संबंध में अधिकारियों से कहा कि विगत वर्षो की तरह इस वर्ष भी जीरो शार्टेज का लक्ष्य लेकर कार्य करें। खरीदे गए धान की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाय। उन्होंने जिले के खरीदी केन्द्रों में उपलब्ध बारदाना, तौल व्यवस्था आदि सुदृढ़ करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने बैठक में जिले के सभी किसानों के लिए तीन माह के भीतर रूपे कार्ड जारी करने के निर्देश सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी को दिए। प्रभारी मंत्री ने जिले में संचालित सार्वजनिक वितरण प्रणाली की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पी.डी.एस. के तहत पात्रता अनुसार सभी हितग्राहियों को राशन कार्ड जारी करें।  प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गरीब परिवार की सभी महिलाओं को तीन माह के भीतर गैस कनेक्शन जारी करना सुनिश्चित की जाए।  उन्होेंने विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि सौभाग्य योजना के तहत पात्र हितग्राहियों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन दिया जाना है। इसके लिए विद्युत विभाग के अधिकारी कैंप लगाकर कार्य करें। सभी पात्र हितग्राहियों को योजना का लाभ मिलना चाहिए। इसी प्रकार किसानों को सिंचाई पंप के लिए दिए गए अस्थायी कनेक्शन को तीन माह के भीतर स्थायी करने की प्रक्रिया शुरू की जाए। उन्हांेने कहा कि प्रधानमंत्री सौर सुजला योजना के तहत शत-प्रतिशत लक्ष्य आगामी तीन माह में पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। वारंटी अवधि में शिकायत मिलने पर संबंधित एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करें। किसानों को पंप संचालन के लिए प्रशिक्षण को भी कार्ययोजना में शामिल करने के निर्देश दिए।
चन्द्राकर ने शिक्षा विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी स्कूलों और आंगनबाड़ी भवनों में विद्युत, पेयजल और शौचालय की व्यवस्था अनिवार्य रूप से हो। इसके अलावा हायर सेकेण्डरी स्कूलों में खेल मैदान व रैंप तैयार करने के लिए ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग के अधिकारी को निर्देशित किया है। श्री चन्द्राकर ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण और प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की प्रगति की भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने 11 फरवरी तक जिले को खुले में शौच मुक्त घोषित करने का लक्ष्य लेकर कार्य करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। बैठक में स्थानीय लोकसभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले, संसदीय सचिव श्री अंबेश जांगड़े, सक्ती विधायक डॉ खिलावन साहू, कलेक्टर डा.ॅ एस. भारतीदासन, पुलिस अधिक्षक श्री अजय यादव, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अजीत वसंत, वनमण्डला अधिकारी श्रीमती सतोविशा समाजदार भी उपस्थित थे।

 

 

error: Content is protected !!