पत्रकार को सरपंच पति ने दी जान से मारने की धमकी

०० पत्रकारों ने सरपंच पति के खिलाफ की लिखित शिकायत, पुलिस ने दिया कार्यवाही का आश्वासन

 करगी रोड कोटा| कोटा विकासखंड के ग्राम पंचायत गोबरीपाठ का सरपंच पति मान सिंह उर्फ कठलू द्वारा भ्रष्टाचार के मामले को अखबार में प्रकाशित करने पर गोबरीपाठ निवासी व पेशे से युवा पत्रकार संजय बंजारे पिता शिवकुमार बंजारे के घर जाकर उनके पिता के सामने संजय बंजारे की अनुपस्थिति में गाली गलौज व जान से मारने की धमकी वह देख लेने की धमकी देने लगा और कहने लगा कि अगर मेरे पंचायत के बारे में अगर कुछ भी खबर प्रकाशित किया तो ठीक नहीं होगा अपने साथ मीडिया के और पत्रकारों को लेकर मेरे पंचायत में घुसने की कोशिश करेगा तो तेरे लिए वह तेरे साथ आने वाले पत्रकारों के लिए भी ठीक नहीं होगा पीड़ित पत्रकार को घर पहुंचने पर इस बात की जानकारी हुई जिसकी खबर पीड़ित पत्रकार संजय बंजारे ने तत्काल कोटा के साथी पत्रकारों को दी जिसके बाद कोटा प्रेस के पत्रकार प्रकाश जायसवाल अभी तक, सुरज गुप्ता दबंग दुनिया,कुलवंत सिंह, नई दुनिया, मो. जावेद खां नया इंडिया, प्रेम सोमवंसी, स्वराज एक्सप्रेस,रोहित साहू सिटी न्यूज़,द्वारा तत्काल कोटा थाने में लिखित प्राथमिकी दर्ज कराई गई और जल्द से जल्द इस इस पर कार्यवाही करने के लिए थाना प्रभारी से कहा गया।

ज्ञात हो कि गोबरीपाठ ग्राम पंचायत के सरपंच एक महिला है और उसका पति मान सिंह उर्फ कठलू शुरू से ही विवादास्पद रहा है सुबह से ही शराब के नशे में धुत रहता है ग्राम पंचायत गोबरीपाट में शौचालय, आवास,  मूलभूत, 14वे वित्त की राशि में सरपंच सचिव द्वारा काफी लीपापोती किया गया है पंचायत के सभी कार्यों में सरपंच पति का हस्तक्षेप रहता है। अभी 1 माह पहले ही ग्राम पंचायत गोबरीपाठ के सरपंच सचिव के खिलाफ पूर्व जनपद पंचायत सीईओ हिमांशु गुप्ता के समक्ष लिखित शिकायत किया गया था जिसकी जांच अभी चल रही है अखबारों में बार बार प्रकाशित खबर होने के वजह से सरपंच पति द्वारा पीड़ित पत्रकार संजय बंजारे को धमकी दिया जा रहा है। कोटा प्रेस संघ के द्वारा जल्द से जल्द कार्यवाही के लिए थाना प्रभारी से निवेदन किया गया है इसके पूर्व में भी रतनपुर के पत्रकार फिरोज खान पर भी इस तरह की धमकी धमकी दी गई थी समाचार प्रकासन के मामले में रतनपुर के आरोपी द्वारा जिस पर कारवाही ना होने पर पत्रकारों का समूह बिलासपुर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया गया था। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अर्चना झा के द्वारा रतनपुर थाना प्रभारी को त्वरित कार्यवाही करने के लिए आदेशित किया गया था।

error: Content is protected !!