ग्रामीण क्षेत्रो के विकास के लिए उचित व्यवस्था करना ही है कलेक्टर पी. दयानन्द का प्रथम कर्तव्य

०० कलेक्टोरेट में समय की पाबन्दी को कलेक्टर ने किये उचित व्यवस्था ताकि आमजनता को हो सहूलियत

०० गौण खनिजो की राशियो से ग्राम पंचायतो के विकास के लिए की समुचित व्यवस्था

०० नगर की बदहाल सडको का अवलोकन कर दिए पुनर्निर्माण के निर्देश 

बिलासपुर| जिले के 25 वर्षो के इतिहास में यह पहली बार हो रहा है कि कलेक्टोरेट में कार्यरत कर्मचारी समय पूर्व कार्यालय में उपस्थित हो रहे है यह व्यवस्था जिले के कलेक्टर पी. दयानन्द ने आमजनता के हितो को लेकर किया है| जो कर्मचारी कार्यालयीन समय 11 बजे कलेक्टोरेट पहुचते थे वे सभी अब 10:30 बजे तक पहुचकर अपना कार्य प्रारंभ कर देते है साथ ही जो कर्मचारी निर्धारित समय पर कार्यालय नहीं पहुच रहे है उन्हें शोकाज नोटिस भी जारी किया जा रहा है| कलेक्टर द्वारा की गयी इस नयी व्यवस्था से आमजनता को राहत मिल रही है वही शासकीय कार्यलयो की बिगड़ी व्यवस्था में भी सुधार आ रहा है जिसका श्रेय जिला कलेक्टर पी. दयानंद को जाता है|

जिले के कलेक्टर पी.दयानद ने जिले के गाव-गाव के गौण खनिजो की राशियो से ग्राम पंचायतो के विकास की समुचित व्यवस्था को लेकर पहल किया है जिसका लाभ ग्रामीणों को मिल रहा है सड़क, नाली, पानी सहित बिजली की सुचारू व्यवस्था प्रत्येक ग्राम पंचायतो को मिले इसके लिए कार्ययोजना लगातार बनायीं जा रही साथ ही इसको अमलीजामा भी पहनाया जा रहा है| कलेक्टर पी.दयानद का पहला उद्देश्य ही है कि आमजनता को शासन की योजनाओ का भरपूर लाभ मिले| मानसिक विकलाग बच्चो की संस्था को कलेक्टर पी.दयानद के प्रयासों से आज सुव्यवस्थित किया गया है जिसमे रहने वाले बच्चो को आज एक बेहतर वातावरण के साथ साथ व्यवस्थित जीवन भी मिल पा रहा है| जिले के कलेक्टर पी.दयानद एक ऐसे कलेक्टर ही जिन्होंने आमजनता की समस्यायो को सुनने व उसके समाधान को लेकर प्रत्येक सोमवार को आयोजित किये जाने वाले जनदर्शन कार्यक्रम में स्वयं उपस्थित होते है और शिकायतकर्ताओ की समस्याओं पर तत्काल संज्ञान लेते है जबकि अन्य जिलो मे होने वाले जनदर्शन कार्यक्रम में जिला कलेक्टर की अनुपस्थिति में अपर कलेक्टर ही आमजनता की समस्याओं से रूबरू होते है|

कलेक्टर पी.दयानंद ने दिए सुव्यवस्थित सड़क बनाने के दिए निर्देश :- जिले की सडको का बुरा हाल है, हाल ही में नगर के सड़क गड्डो में तब्दील हो गए, जगह-जगह से सडको में दरार के साथ साथ कई बड़े बड़े गड्डे बन गए जिसको लेकर नगरवासियों में रोष व्याप्त था| जिले के कलेक्टर को इस मामले का संज्ञान होने पर उन्होंने तत्काल सडक मार्गो का अवलोकन कर सडक निर्माण कंपनी को तत्काल सड़क बनाने के निर्देश दिए व जब तक सुगम सड़क नहीं बन जाती तब तक एक दो नहीं हर दफे पुरानी सड़क को उखाड़कर नयी सडक बनाने की बात कही गयी जिससे आमजनता को राहत मिली है|

कई जिलो में दी है सेवाए, हमेशा से न. एक रहे है कलेक्टर पी.दयानद :- बिलासपुर जिले के कलेक्टर पी.दयानद ने बस्तर जिले के साथ साथ दंतेवाडा जिले में जिला पंचायत सीईओ के रूप में अपनी सेवाए दी इस दौरान आदिवासी ग्रामीणों के लिए कई उत्कृष्ट कार्य किये इसके अलावा कवर्धा जिला, कोरबा जिला सहित अन्य जिलो में अपनी सेवाए दी है| कलेक्टर पी.दयानंद ग्रामीण क्षेत्रो के विकास के लिए उचित व्यवस्था किये जाने को अपना पहला कर्तव्य मानते ही जिसको लेकर हमेशा प्रतिबद्ध भी रहते है|

error: Content is protected !!