स्वास्थ्य मंत्री ने किया ‘चलित खाद्य परीक्षण वाहन’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना

००  मिलावटी पेय एवं खाद्य पदार्थों का स्थल पर ही करेंगे जांच एवं परीक्षण

रायपुर| राज्य सरकार मिलावटी पदार्थों पर रोकथाम और लोगों को शुद्ध खाद्य पदार्थ एवं पेय पदार्थ मिले इसके लिए तकनीकी सुविधाओं का सहयोग ले रही है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अजय चन्द्राकर ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में खाद्य पदार्थो के स्थल पर ही जांच एवं परीक्षण के लिए ‘वातानुकुलित चलित वाहन’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर श्री चन्द्राकर ने कहा कि यह खाद्य एवं औषधि प्रशासन द्वारा किया गया सराहनीय कदम है। प्रदेश के लोगों को सेहतमंद खाद्य पदार्थ मिले इसके लिए बेहतर प्रयास है। इससे जागरूकता के साथ ही लोगों को शुद्ध पेय एवं खाद्य पदार्थ मिलेगा और मिलावटी पर भी लगाम लगेगी।
यह खाद्य परीक्षण चलित वाहन खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा संचालित किया जा रहा है। खाद्य पदार्थों में मिलावटी पर नियंत्रण के लिए चलित इस वाहन की लागत लगभग एक करोड़ रूपए हैं। इस खाद्य परीक्षण चलित वाहन में खाद्य पदार्थों की जांच की अत्याधुनिक तकनीकी मशीन स्थापित है। इस चलित वाहन के जरीए प्रदेश के सभी जिलों और विकासखण्डों में घूम-घूमकर खाद्य पदार्थों की दुकानों में खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता की जांच करेंगे। इसके अलावा खाद्य परीक्षण चलित वाहन में साथ मौजूद अधिकारियों द्वारा जगह-जगह लोगों को स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से साफ-सुथरे और गुणवत्ता पूर्ण खान-पान के लिए जागरूक भी करेंगे। आगामी माह दिसम्बर में एक और चलित खाद्य परीक्षण वाहन उपलब्ध कराने पर भी विचार-विमर्श किया गया।

 

error: Content is protected !!