नंदकुमार साय को जान से मारने दी करोड़ों की सुपारी, दिल्ली पुलिस करेगी जांच

रायपुर| राष्ट्रीय अनुसुचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंद कुमार साय को मारने के लिए सुपारी का मामला सामने आया है दरअसल राष्ट्रीय अनुसुचित जनजाति आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी पर नंदकुमार साय को जान से मारने की साजिश रचने का आरोप है। घटना को अंजाम दिए जाने से पहले भनक लगते ही शिकायत दिल्ली पुलिस से कर दी गई। इसकी लिखित शिकायत आयोग के सचिव राघव चंद्रा के पास की गई है। वहीं इस पूरे मामले में आयोग के सचिव राघव चंद्रा ने दिल्ली कमिश्नर को जांच का जिम्मा सौंपा है। आपको बता दें की धमकी भरा पत्र आयोग के कार्यालय में मिला था।मगर इस बात की पुस्टि नहीं हो पायी है की धमकी किसने और किन कारणों से दी है।

नंदकुमार साय ने पूरे मामले की जानकारी न होने की बात कही उन्होंने कहा वे राष्ट्रपति के कार्यक्रम में व्यस्त थे जिस वजह से पूरी बात पता नहीं चल पाया है और सारी जानकारी राघव चंद्रा के पास होने की जानकारी है और वही इन सब चीजों की जांच कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक नंद कुमार साय की हत्या के लिए करोड़ों रुपए की सुपारी दी गई थी। आयोग के सचिव राघव चंद्रा मिडिया से किसी भी तरह की जानकारी साझा करने से मन कर दिया है। इस पूरे मामले को लेकर नंद कुमार साय बिलासपुर हाईकोर्ट में पेशी के लिए पहुंचे हुए हैं। छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री और राष्ट्रीय अनुसूचीत जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंदकुमार साय को जाने से माने की सुपारी देने के बाद से राजनीतिक में सनसनी फैल गई, साय इसकी जानकारी मीडिया को भी बताने से इनकार कर रहे हैं। सूत्रों से लगातार आ रही खबरों के बाद साय का एक वीडियो सामने है। जिसमें नंदकुमार ने जान से मारने की धमकी भरे एक पत्र मिलने की बात बताई है फिलहाल इसकी जांच अब दिल्ली पुलिस करेगी।

error: Content is protected !!