अंतागढ़ टेप मामले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर अजीत जोगी ने मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को लिखा पत्र

रायपुर| मरवाही विधायक अमित जोगी ने अंतागढ़ टेप मामले की भी जांच सीबीआई से कराने का सरकार से अनुरोध किया था। आज इसी मसले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने मुख्यमंत्री डाक्टर रमन सिंह को पत्र भेजा है। सीडी की जांच का स्वागत करते हुए अजीत जोगी ने कहा कि 2015 में आयी अंतागढ़ फर्जी सीडी उनकी राजनीतिक हत्या का प्रयास था। इस मामले की सीबीआई जांच का प्रस्ताव अमित जोगी ने विधानसभा में भी रखा था लेकिन प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया गया। अजीत जोगी ने इस मामले में एक बार फिर मुख्यमंत्री से अंतागढ़ टेप मामले की जांच सीबीआई से करवाऩे का अनुरोध दोहराया है। अजीत द्वारा लिखे पत्र में कहा गया है कि गत दिनों एक आपत्तिजनक सीडी सार्वजनिक हुई थी जिसमें तथाकथित रूप से राज्य के मंत्री के शामिल होने का आरोप था। मामले की गंभीरता को देखते हुए और जनता के समक्ष सच्चाई लाने के लिए आपने इस सीडी की सत्यता जांचने के लिए सीबीआई जांच करवाए जाने की अनुशंसा बहुत ही तत्परता से केंद्र को भेज दी है। मैं आपके इस कदम का स्वागत करता हूँ और ऐसी ही तत्परता जनहित से जुड़े एक अन्य विषय पर भी दिखाने का आपसे अनुरोध करता हूँ।

वर्ष 2015 के अंत में अंतागढ़ उपचुनाव के सम्बन्ध में भी एक सीडी सार्वजनिक हुई थी जिसमें मुझ पर और मेरे परिवार पर तथाकथित रूप से इस उपचुनाव को प्रभावित करने के तथ्यहीन और झूठे आरोप लगाए गए थे। अंतागढ़ की फर्जी सीडी जारी होने के तत्काल बाद मैंने सीबीआई जांच और न्यायिक जांच की मांग की थी। चूँकि सीडी पूरी तरह से फ़र्ज़ी थी और मेरी राजनितिक हत्या का एक षड्यंत्रपूर्ण प्रयास था, मैंने अनेकों बार आपसे अंतागढ़ प्रकरण की इस फर्जी सीडी की सत्यता जांचने सीबीआई जांच कराने की मांग करता रहा हूँ । विधायक अमित जोगी ने तो सीबीआई जांच करवाए जाने का प्रस्ताव छत्तीसगढ़ विधानसभा में भी रखा था। अंतागढ़ प्रकरण की फर्जी सीडी की सीबीआई जांच की मांग इसलिए तार्किक और आवश्यक है क्योंकि गत दिनों जारी हुई अश्लील सीडी में जिन लोगों के नाम सामने आये हैं उनके नाम अंतागढ़ प्रकरण की भी इस फ़र्ज़ी सीडी में शामिल थे। ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि जब सरकार के मंत्री की तथाकथित सीडी आयी तो सरकार ने तत्काल सीबीआई जांच करवाने का निर्णय ले लिया जबकि अंतागढ़ प्रकरण की सीडी की सीबीआई जांच करवाए जाने की मांग अभी तक स्वीकार नहीं की गयी है। ऐसा प्रतीत होता है मानो सरकार और विपक्ष दोनों ही नहीं चाहते कि अंतागढ़ प्रकरण की फ़र्ज़ी सीडी का सच जनता के सामने आये और षड्यंत्रकारी पकडे जाएँ। इस पत्र के माध्यम से मैं आपसे एक बार पुनः अनुरोध कर रहा हूँ कि छत्तीसगढ़ की जनता के समक्ष अंतागढ़ प्रकरण का सच सामने लाने के लिए अंतागढ़ टेपकांड की सीबीआई जांच की अनुशंसा अतिशीघ्र केंद्र सरकार से करें। छत्तीसगढ़ की जनता की यह अपेक्षा करती है कि सीबीआई, अंतागढ़ की सीडी की  समयबद्ध और गहन जांच करे ताकि दिल्ली में फर्जी सीडी बनाने वाले तथाकथित गिरोह और उसके सरगना का चेहरा जनता के समक्ष उजागर हो।

 

error: Content is protected !!