स्टेशन मास्टर व मालगाडी गार्ड की लापरवाही से हुई रेल्वे कर्मचारी की मौत

०० घटना के बाद रेलवे के अधिकारी अपना बचाव कर मृतक को बता रहे दोषी

कोटा| करगीरोड रेल्वे स्टेशन मास्टर व मालगाडी के गार्ड की लापरवाही पूर्वक मालगाडी को पीछे की ओर हरी झंडी दिखाने से कोटा स्टेशन में ही कार्यरत टेक्निशियन कर्मचारी राकेश कुमार गुप्ता की माल गाडी के नीचे आने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई। रेल्वे ट्रेक पर काम कर रहे थे। जोकी स्लीपर फैक्टरी से स्लीपर लोड करने के लिए मालगाडी को प्लटेफार्म मे लगाने के लिए बैक कर रहे थे गार्ड ने ड्रइवर को पीछे करने के लिए झंडी दिखई इसी दौरान रेल्वे ट्रेक पर काम कर रहे राकेष कुमार गुप्ता मालगाडी कि चपेट में आ गए।

बताया जा रहा है कि मृतक राकेश गुप्ता व उनके साथी आर.के.सिन्हा के साथ रेल्वे ट्रेक पर काम कर रहे थे जब इस घटना कि जानकारी रेल्वे प्रबंधन को मिली तो उन्होने बताया कि मृतक राकेश कुमार गुप्ता द्वारा हमसे कोई अनुमति नही ली थी। रेल्वे के मुख्य परिचालक निरिक्षक के.मलिक ने साफ तौर पर कहा कि राकेश कुमार गुप्ता की ही गलती है जो कि बिना कोई प्रकार कि जानकारी दिये बगैर ही ट्रेक पर काम कर रहा थे। इस कारण से यह घटना हुई है।डीविजनल इंजीनीयर डी.के.सोनवानी ने बतलाया कि मृतक का कोई गलती नही है। और स्लीपर फैक्टरी में सेन्टरिंग का काम हो रहा था इस वजह से यह घटना हुई है। यह एक गम्भीर मामला है इस पर जांच कमेटी गठीत किया जायेगा उसके बाद ही उचित कार्यवाही कि जाएगी। जी.आर.पी. पुलिस ने शव का पंचनामा कार्यवाही कर पोस्टमार्डम के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्डम उपरांत शव परिजनो को सौपा देगी। मीडिया के सवालो से डी.के.सोनवानी एकदम से घबरा गये और बार बार एक रट लगाये थे कि ये जांच का विषय है पुछने पर वह नही बता पाए की घटना का जिम्मेदार कौन है।

 

error: Content is protected !!