लोकतंत्र की आवाज़ को दबाने का प्रयास शर्मनाक : शैलेष पाण्डेय

०० पुलिस भदौरा कांड और नसबंदी कांड के आरोपियों को गिरफ्तार करने में आखिर रूचि क्यों नहीं दिखाती: शैलेष पाण्डेय

०० कांग्रेस ने प्रदेश सरकार से की राजेश मुड़त को तत्काल बर्खास्त करने की मांग

बिलासपुर| अश्लील सीडीकांड में प्रदेश के दिग्गज मंत्री राजेश मुड़त का नाम सामने आने के बाद कांग्रेस ने जमकर विरोध जताते हुए लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा जो एडिटर गिल्ड के सदस्य भी है उनके गाजियाबाद स्थित निवास पर बिना किसी जांच और ठोस सबूत के गिरफ्तरी किये जाने का विरोध किया| कांग्रेस नेता शैलेष पाण्डेय ने प्रदेश सरकार से मत्री राजेश मुड़त को तत्काल बर्खास्त करने की मांग करते हुए पत्रकार की गिरफ्तारी को लोकतंत्र की हत्या करार दिया है साथ ही इसकी कड़ी निंदा भी की है|

बिलासपुर के नेहरु चौक में कांग्रेस नेता शैलेष पाण्डेय के नेतृत्व में सैकड़ो कांग्रेसियों ने मत्री राजेश मुड़त को बर्खास्त किये जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया| इस दौरान कांग्रेस नेता शैलेष पाण्डेय ने कहा कि पत्रकारों की आवाज़ को सरकार लगातार दबाने का प्रयास कर रही है, मंत्री राजेश मुड़त का अश्लील वीडियो जनता के सामने ना आ जाए इसके लिए निर्दोष पत्रकार को हिरासत में ले लिया गया,यह कार्यवाही प्रजातंत्र की आवाज़ को दबाने वाली कार्यवाही है| यह सत्तारूढ़ दल और सर्कार के लिए काफी शर्मनाक है जिस तरह पत्रकार को आनन्-फानन में गिरफ्तार किया गया है सरकार यदि हर घटना में कार्यवाही करने के लिए इसी तरह से तत्परता दिखाती तो आज नसबंदी कांड व भदौरा जमीन घोटाला जैसे कांड के आरोपी खुलेआम नहीं घूमते| सरकार की पुलिस भदौरा कांड और नसबंदी कांड के आरोपियों को गिरफ्तार करने में आखिर रूचि क्यों नहीं दिखाती| नरेन्द्र बोलर ने कहा कि सीडी की जांच होनी चाहिए। दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। लेकिन कांग्रेस पार्टी एक तरफा तानाशाही वाली कार्रवाई के खिलाफ है। सिर्फ फोन काल पर वरिष्ठ पत्रकार को गिरफ्तार करना ना तो तर्कसंगत है और ना ही न्याय संगत। विनोद वर्मा की गिरफ्तारी का अर्थ चौथे स्तम्भ पर हमला है। दरअसल अब लोकतंत्र खतरे में है।बिलासपुर कांग्रेस ने पत्रकार की गिरफ्तारी का विरोध और सीडी कांड में संलिप्त मंत्री पर कार्यवाही की मांग करते हुए पुतला दहन किया गया| धरना प्रदर्शन के दौरान शैलेश पाण्डेय, राजेन्द्र शुक्ला,नरेन्द्र बोलर,अभय नारायण राय,शिवा मिश्रा, शेख नजरूद्दीन,शैलेन्द्र जायसवाल,प्रमोद नायक,तरू तिवारी,मणि वैष्णव,सीमा पाण्डेय,आशा पाण्डेय,चित्रलेखा,अफरोज खान,सीमा सोनी,शांति उपाध्याय,हरीश तिवारी,समेत सैकड़ों कांग्रेसी नेता मौजूद थे।

error: Content is protected !!