छत्तीसगढ़ सरकार ने दिए सीडीकांड की सीबीआई जांच के आदेश

रायपुर| छत्तीसगढ़ सरकार ने फैसला किया है कि सेक्स सीडी मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाएगी। इस बात की जानकारी राज्य के कैबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे ने दी।मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, ‘कैबिनेट ने इस बात का फैसला किया कि सेक्स सीडी कांड की जांच सीबीआई के हवाले की जाएगी।’इससे पहले छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने कथित सेक्स सीडी को जारी कर दिया। यह सीडी छत्तीसगढ़ कांग्रेस के राज्य अध्यक्ष भूपेश बघेल ने जारी की है। इस ‘सेक्स सीडी’ में कथित तौर पर छत्तीसगढ़ के पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत आपत्तिजनक स्थिति में दिखाई दे रहे हैं।

वहीं आरोपी मंत्री ने कहा कि जिस सेक्स सीडी की बात की जा रही है, वह फर्जी है। उन्होंने कहा, ‘मैं राज्य के मुख्मंत्री से अपील करता हूं कि इसकी किसी भी एजेंसी से जांच कराई जाए। मैं इसकी निंदा करता हूं।’कांग्रेस के तरफ से जारी करने के बाद शुक्रवार शाम को बीजेपी के मंत्री राजेश मूणत ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई और इस सीडी के जारी होने के बाद भूपेश बघेल के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया गया है।छत्तीसगढ़ मंत्री ‘सेक्स सीडी’ मामले में कांग्रेस राज्य अध्यक्ष भूपेश बघेल और विनोद वर्मा के खिलाफ आईटी की धारा 67A के तह्त मामला दर्ज किया गया है।गौरतलब है कि इससे पहले पत्रकार विनोद वर्मा को सेक्स सीडी मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है। उनका दावा है कि उनके पास राज्य के एक मंत्री का सेक्स सीडी है।मीडिया से बातचीत में वर्मा ने कहा था, ‘मेरे पास छत्तीसगढ़ के मंत्री की सेक्स सीडी है। उनका नाम राजेश मुनत है और यही वजह है कि छत्तीसगढ़ सरकार मेरे से नाराज है।’पुलिस का दावा है कि उनके पास से करीब 500 सीडी जब्त की गई है। विनोद वर्मा के खिलाफ यह कार्रवाई रायपुर में बीजेपी कार्यकारिणी के सदस्य प्रकाश बजाज की तरफ से शिकायत दर्ज होने के बाद की गई थी। वर्मा ने कहा, ‘छत्तीसगढ़ सरकार मेरे से खुश नहीं है। मेरे पास एक पेन ड्राइव है और इसका सीडी से कोई लेना-देना नहीं है। साफ तौर पर मुझे फंसाया जा रहा है।’गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए यूपी पुलिस ने ट्वीट कर बताया, ‘वर्मा को छत्तीसगढ़ पुलिस ने रायपुर जिले के पी एस पंडरी थाने में दर्ज जबरन उगाही के मामले में गिरफ्तार किया है।’

 

error: Content is protected !!