मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ‘‘सर्वे भवन्तु सुखिनः, सर्वे संतु निरामयाः’’ कार्यक्रम में हुए शामिल

०० मुख्यमंत्री ने किया स्वास्थ्य विभाग की पांच नई योजनाओं का शुभारंभ

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज यहां सरदार बलवीर सिंह जुनेजा इंडोर स्टेडियम (बूढ़ापारा) रायपुर में ‘‘सर्वे भवन्तु सुखिनः, सर्वे संतु निरामयाः’’ कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की पांच योजनाओं – विस्तारित मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, मुख्यमंत्री ग्राम स्वास्थ्य सुरक्षा केन्द्र, टी.बी. दवा का दैनिक सेवन, सिकल सेल रोग प्रबंधन कार्यक्रम, नान्हे लइका सुरक्षा योजना सहित पन्द्रह नवीन पोषण केन्द्र का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने नगरी विकासखंड के सिकलसेल और थेलेसिमिया से पीड़ित दो बच्चियों चांदनी और खुशबू से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से बातचीत की और कहा  अब आपको और आपके परिवार को किसी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नहीं। राज्य सरकार आपके उपचार की पूरी जिम्मेदारी लेगी और निःशुल्क इलाज कराएगी। मुख्यमंत्री से बातचीत करने के बाद दोनों बच्चियों के चेहरे खिल उठे।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री नेे कहा कि आज हम स्वास्थ्य विभाग की पांच नई योजनाओं का शुरूआत कर रहे है। यह अनूठी पहल इै। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री और उनका विभाग बधाई का पात्र है। इन योजनाओं से प्रदेश को अवश्य ही कुपोषण से मुक्ति मिलेगी और मातृ-मृत्यु दर और शिशु मृत्यु दर न्यूनतम होगा। इससे हमारा स्वच्छ और समृृध्द छत्तीसगढ़ का सपना निश्चित ही पूरा होगा।  उन्होंने कहा कि अब मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 50 हजार रूपए तक सभी किसी भी शासकीय और मान्यता प्राप्त अस्पताल में इलाज करा सकते हैं। यह पूरे देश में एक अभूतपूर्व योजना है। उन्होंने प्रदेश को टीबी रोग से पूर्णतः मुक्त करने के लिए नई योजना की शुरूआत की जा रही हैं, जिसमें अंतराज की बजाय रोज दवा खानी होंगी। यह दवा शासकीय और चिन्हित निजी अस्पताल में बिलकुल निःशुल्क मिलेगी। चिन्हित दुकानों पर भी पर्ची दिखाने पर मुफ्त में दवा मिलेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा – सिकल सेल रोग छत्तीसगढ़ के लिए एक चुनौती है। अब सिकिल सेल प्रंबधन कार्यक्रम के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों, स्कूलों में ऐसे बच्चों-गर्भवती माताओं और अन्य लोगों को चिन्हित किया जाएगा और उनका उचित प्रबंधन कर इलाज किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने कहा  कि कल्याणकारी राज्य की भावना को क्रियान्वित करने के राज्य सरकार गंभीरता से कार्य रही है। वर्ष 2003 में स्वास्थ्य के क्षेत्र में असंतुलन की स्थिति थी, पर राज्य सरकार के निरतंर प्रयास के चलते हम संतुलित स्थिति में आ गए हेै। वर्तमान में प्रदेश में सभी 27 जिलों में चिकित्सालय संचालित हो रहे हैं। हमारा लक्ष्य प्रदेश में शत-प्रतिशत टीकाकरण करना और शिुश और मातृ मृत्यु की दर न्यूनतम करना है जिसके के लिए सार्थक प्रयास जारी है। कार्यक्रम को लोकसभा सांसद श्री रमेश बैस ने भी सम्बोधित किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री सहित अतिथियों ने नान्हे लईका सुरक्षा योजना की पत्रिका का विमोचन किया। इस मौके पर विधायक श्री श्रीचंद सुंदरानी, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव श्री सुब्रत साहू, सचिव श्री अनिल साहू, स्वास्थ्य आयुक्त श्री आर. प्रसन्ना, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं श्रीमती रानू साहू सहित अन्य मिनानिन, स्वास्थ्य कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!