छात्र की दर्दनाक हत्या का खुला राज,जानकार हो जायेंगे हैरान

०० महज मिलने आ जाने पर फूफा ने की भतीजे की हत्या

रायपुर/जांजगीर। नौवीं के छात्र देवेंद्र हरवंश की हत्या का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। उसके ही फूफा ने ही उसकी हत्या की है। आरोपी ने उसे पैसा देने के बहाने घर बुलाया और भतीजे को खूब शराब पिला दी। जब किशोर को नशा अधिक हो गया तो आरोपी राकेश ने उसका गला ब्लेड से रेत कर उसकी हत्या कर दी। किशोर का अपराध केवल इतना था कि वह घरेलू काम में अपनी बुआ की मदद करता था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार परसाभांठा निवासी विनोद हरवंश पावर ग्रिड कंपनी तागा में पदस्थ था। वह अपने परिवार के साथ जांजगीर के वार्ड क्रमांक 10 में रहता था। उसी परिसर में उसकी बहन अौर बहनोई भी किराए में रहते हैं। विनोद हरवंश की बहन और उसके बहनोई दोनों शिक्षाकर्मी हैं। विनोद का बहनोई राकेश कुर्रे शराब पीने का आदी है। इस वजह से राकेश का अपनी पत्नी व साले के साथ अक्सर विवाद होता रहता था। घटना के दस-बारह दिन पहले भी राकेश के साथ दोनों का विवाद हुआ तो राकेश अपनी पत्नी को छोड़कर अपने मामा के घर चांपा में रहने लगा था।वहीं विनोद का बेटा देवेंद्र फूफा के शराबी होने के कारण अपनी बुआ की मदद भी करता था। वह उसे स्कूल छोड़ने से लेकर अन्य काम कर देता था। जिससे राकेश नाराज था और अपने साले विनोद से बदला लेने की फिराक में था।पुलिस के अनुसार दीवाली की शाम देवेंद्र ने अपने फूफा को फोन कर उससे पैसे मांगे। पैसे देने के लिए राकेश ने उसे बुलाया था। उसने देवेंद्र को खूब शराब पिला दी। जब वो नशे में चूर हो गया तो उसने उसे लिटाकर ब्लेड से गला रेत दिया। देवेंद्र ने अपने दोस्तों से कहा था कि उसने अपने फूफा से पैसे मांगे हैं जब पैसे मिलेंगे तो पार्टी मनाई जाएगी। देवेंद्र के दोस्तों से मिले इस क्लू के आधार पर पुलिस ने जांच बढ़ाई तो देवेंद्र के मोबाइल से राकेश को फोन करने की जानकारी मिली।इसके बाद से देवेंद्र का मोबाइल बंद गया था। इसी आधार पर पुलिस ने राकेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो वह काफी समय तक पुलिस को बरगला नहीं सका और छात्र देवेंद्र की हत्या करने की बात मान ली।घटनास्थल से आरोपी की निशानदेही पर खून लगा ब्लेड घटना के समय पहने हुए कपड़े को जब्त कर लिया गया।

गौरतलब है कि  गोवर्धन पूजा के दिन (20 अक्टूबर) को नैला रेलवे क्रॉसिंग के पास झाड़ियों में एक किशोर का शव मिला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त कराई तो पता चला कि मृतक जांजगीर के वार्ड क्रमांक 10 के रहने वाले देवेंद्र हरवंश है।शव के पास बीयर की दो खाली बोतलें और डिस्पोजल गिलास व अन्य सामान भी पुलिस को मिला था।देवेंद्र दीपावली के दिन शाम सवा पांच बजे मकान मालिक के बेटे चमन को दो मिनट में लौट कर अाने की बात कहकर घर का दरवाजा बंद किए बिना ही निकल गया। इसके बाद वो वापस नहीं लौटा था।देवेंद्र के पिता विनोद ने बताया कि वो दीपावली बनाने परिवार समेत गांव गए थे, लेकिन देवेंद्र को वहां अच्छा नहीं लगा और वो वापस जांजगीर अपने किराए के मकान में चला गया था। वो बोलकर गया था कि दीपावली वहां दोस्तों के साथ सेलिब्रेट करेगा। देवेंद्र लिंक रोड में संचालित विवेकानंद स्कूल में कक्षा नौवीं कक्षा का छात्र था।

 

error: Content is protected !!