मुख्यमंत्री से आदिवासी किसानों के प्रतिनिधि मंडल ने की मुलाकात

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से आज यहां उनके निवास में राजनांदगांव जिले के मानपुर विकासखण्ड के 84 गांव से आए लगभग एक सौ आदिवासी किसानों, मांझी, मोकासा और ग्राम पटेलों के प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की। उन्होंने किसानों को वर्ष 2016 में खरीदे गए धान का बोनस देने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट किया। प्रतिनिधि मंडल ने आदिवासियों के देवस्थलों कोराचागढ़, कोसाराव और रायतलदेव में शेड, चबूतरा और बाउंड्रीवाल का निर्माण कराने का आग्रह मुख्यमंत्री से किया। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधि मंडल के आग्रह पर कोराचागढ़ में इन कार्यों के लिए 15 लाख रूपए, कोसाराव और रायतलदेव देवस्थलों के लिए दस-दस लाख रूपए की मंजूरी स्वेच्छानुदान से तत्काल प्रदान कर दी।

मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधि मंडल का अपने निवास पर आत्मीय स्वागत करते हुए उन्हें धनतेरस की शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि शिक्षित समाज ही आगे बढ़ता है। उन्होंने बेटे और बेटियों दोनों को शिक्षित करने की जरूरत पर बल दिया। मुख्यमंत्री ने नशे की सामाजिक बुराई पर रोक लगाने की समझाईश भी दी। उन्होंने प्रतिनिधि मंडल को यह भी बताया कि तेन्दूपत्ता संग्राहकों को दीपावली के बाद 270 करोड़ रूपए का तेन्दूपत्ता बोनस वितरित किया जाएगा। इस सीजन में प्रति मानक बोरा तेन्दूपत्ता मजदूरी की दर बढ़ाकर ढाई हजार रूपए कर दी है। उन्होंने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना की जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना के स्मार्ट कार्ड में निःशुल्क इलाज की सीमा 30 हजार रूपए से बढ़ाकर 50 हजार रूपए कर दी गई है। इस अवसर पर राजनांदगांव लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह और छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री शशिकांत द्विवेदी सहित सर्वश्री अजब शाह मण्डावी, चैतूराम तुलाबी, मनीराम कटेंगा, धनीराम तुलाबी, देवसाय मण्डावी, भानु तुलाबी और परशुराम नायक शामिल थे।

 

error: Content is protected !!