निर्माणाधीन स्काईवॉक के गड्ढे में मिली युवक की सड़ी-गली लाश

रायपुर| राजधानी के शास्त्री चौक में निर्माणाधीन स्काईवॉक के लिए खादे गए गड्ढे में रविवार को एक युवक की लाश मिलने से सनसनी फैल गई,लाश एक सप्ताह पुरानी दिख रही है वहीं मृतक युवक की उम्र 35-40 वर्ष बताई जा रही है। लाश बुरी तरह से सड़ चुकी है। सड़े-गले होने की वजह से मृतक की शिनाख्त नहीं हो पा रही है। पुलिस ने लाश को निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए मरच्र्युरी भेज दिया है।मौत का कारण अज्ञात है। मामला गोलबाजार थाने क्षेत्र का है। फिलहाल इस मामले में पुलिस स्काईवॉक प्रबंधन से पूछताछ कर रही है।

गौरतलब है कि लाश इतनी बुरी तरह से सड़ चुकी है कि उसे निकालने में भी काफी दिक्कत हुई। बहरहाल पुलिस यह पता करने की कोशिश कर रही है कि मृतक युवक कहां का रहने वाला है और वह इस गड्ढे में कैसे गिरा? या किसी ने दुश्मनी वश उसकी हत्या कर लाश गड्ढे में फेंक दी हो ? इन सभी बिंदुओं को लेकर पुलिस मामले की तहकीकात में लगी है। बात यही पर खत्म नहीं हो जाती है। सबसे बड़ा यह सवाल है कि जब स्काईवॉक बनाया जा रहा है तो वहां पर जगह-जगह खोदे गए गड्ढे की देखरेख और सुरक्षा में भी कंपनी ने कर्मचारी लगा रखी है, फिर कैसे लापरवाही हुई। वहीं कार्य भी लगातार चल रहा है तो मृतक गड्ढे में कैसे गिरा? किसी ने क्यों नहीं देखा? कंपनी के कर्मचारी क्या कर रहे थे? किसी की नजर गड्ढे में क्यों नहीं पड़ी? सुरक्षा और मॉनिटरिंग में लापरवाही के लिए कंपनी किसे जिम्मेदार मानेगी? जब पहरेदारी हो रही है तो फिर घटना कैसे घट गई? इन गड्ढों को घेरा न कर खुला कैसे छोड़ दिया गया? लोगों को बताने के लिए किसी प्रकार का सांकेतिक बोर्ड क्यों नहीं लगाया गया। आदि सवाल कंपनी की सुरक्षा और कार्य प्रणाली पर सवाल खड़ कर रहे हैं। फिलहाल जांच के बाद ही मामले की सही सच्चाई मालूम चलेगी।

error: Content is protected !!