पुलिस के निहत्थे जाबांज सिपाही के हौसले से जान बचाकर भागे नक्सली

०० हथियारों से लेस नक्सलियों ने निहत्थे आरक्षक पर किया था अचानक हमला

०० शहीद एसआई विवेक शुक्ला की पिस्टल छीन लाया बहादुर जवान 
रायपुर। नक्सलियों का दंश झेल रहे बस्तर के जवानो की बहादुरी से प्रदेश सहित पूरा देश गौरान्वित है, जवानों द्वारा कई दफे अपनी बहादुरी पेश की जा चुकी है, जो पीढियों के लिए मिशाल है|दंतेवाडा जिले के कुआकोंडा थाना क्षेत्र का जवान भीमाराम कुंजाम ने भी निहत्था होकर भी हथियारों से लेस नक्सलियों से भीड़ गया, अपने पर भारी पड़ता देख नक्सली भी जान बचाकर भाग निकले,इतना ही नहीं जवान भीमाराम ने शहीद एसआई विवेक शुक्ला की पिस्टल भी उनसे छीन लाया। जवान की इस बहादुरी पर एसपी ने प्रोत्साहन राशी देकर उसके अदयम साहस व वीरता की प्रसंशा की|
दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने कहा कि, कुआकोंडा थाना क्षेत्र का जवान भीमाराम 6 अक्टूबर की सुबह सूचना संकलन के लिए हितवार गया था। सुबह लगभग 8 बजे पटेलपारा के हितवार के एक मकान की छपरी पर बैठे माओवादियों ने भीमाराम पर हमला किया। निहत्थे ही भीमाराम पांचों पर शेर की तरह झपटा और उनके कब्जे से शहीद एसआई विवेक शुक्ला की पिस्टल भी छीन लिया। उन्होंने कहा कि, 28 फरवरी को कुआकोण्डा थाना क्षेत्र में श्यामागिरी घाटी में थाना कुआकोण्डा से एरिया डॉमिनेशन पर निकली पुलिस पार्टी पर माओवादियों ने हमला किया था। हमले में शहीद उप निरीक्षक विवेक शुक्ला की 9 एमएम की पिस्टल माओवादी छीनकर ले गए थे, यह पिस्टल पुन: दंतेवाड़ा पुलिस को भीमाराम के साहस से मिल गई है। बाजी पलटी तो ग्रामीण के भेष में पहुंचे माओवादी जान बचाकर भाग गए। जवान भीमाराम कुंजाम की बहादुरी पर दंतेवाड़ा एसपी कमललोचन कश्यप ने जवान को दस हजार नगद राशि से पुरस्कृत किया।

error: Content is protected !!