केवटाडीह टांगर सरपंच के काले-कारनामो के खिलाफ ग्रामीणों ने की लोकायुक्त से शिकायत

०० अविश्वास प्रस्ताव पारित होने के बाद भी कूटरचना कर सरपंच पद पर पुनः किया कब्ज़ा

०० ग्रामीणों ने सरपंच के भ्रष्टाचार के खिलाफ लोक आयोग में शिकायत कर की कार्यवाही की मांग

०० ग्रामीणों के लिए शासन द्वारा नलकूप खनन को जबरन किया अपने निवास में स्थापित

०० शौचालय, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य योजनाओ में कर रहा फर्जीवाडा

रायपुर| बिलासपुर जिले के मस्तुरी विकासखंड के ग्राम पंचायत केवटाडीह टांगर के पंचो व ग्रामीणों ने सरपंच निर्मला देवी राय व पति महेंद्र सिंह राय द्वारा शौचालय निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य शासन की कल्याणकारी योजनाओ में जमकर भ्रष्टाचार किये जाने व सरपंच निर्मला देवी के खिलाफ ग्राम पंचायत में अविश्वास प्रस्ताव पारित किये जाने के बाद एक माह तक पद से पृथक होकर पुनः पद पर काबिज होकर भ्रष्टाचार को अंजाम दिए जाने को लेकर आज लोक आयोग में शिकायत कर कार्यवाही किये जाने की मांग लोकायुक्त से किया है|

राजधानी रायपुर स्थित लोक आयोग पहुचे ग्राम पंचायत केवटाडीह टांगर के पंचो व ग्रामीणों ने बताया कि सरपंच निर्मला देवी के पति महेंद्र सिंह द्वारा अपनी सरपंच पत्नी के पद का दुरूपयोग कर द्वारा शासन की योजनाओ में जमकर फर्जीवाडा कर भ्रष्टाचार किया जा रहा है| शौचालय निर्माण में सरपंच द्वारा कई अनिमितताओ को अंजाम दिया है साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना में भी ग्रामीण हितग्राहियों से नकद राशि लेकर आबंटन की प्रक्रिया की जा रही है|सरपंच द्वारा ग्राम पंचायत के ग्रामीणों से शासन की योजनाओ का लाभ दिलाने के एवज में जमकर वसूली किया जा रहा है, ग्रामीण दुखी राम यादव ने बताया कि सरपंच द्वारा नगद 10000 लिया गया शौचालय व आवास का निर्माण स्वयं के खर्च पर किया गया है| सरपंच की मनमानी के चलते शासन की किसी भी योजना का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा है वही सरपंच द्वारा कई कल्याणकारी योजनाओ में बंदरबांट कर राशि में गड़बड़ी किया जा रहा है| ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत केवटाडीह टांगर सरपंच निर्मला देवी द्वारा पद का दुरुपयोग कर शासन की योजनाओ में अनियमितता बरते जाने को लेकर ग्रामीणों ने सरपंच के खिलाफ 8 जून 17 को अविश्वास प्रस्ताव हेतु आवेदन दिया, जिसके बाद 23 जून 17 को पीठासीन अधिकारी तहसीलदार एवं ग्राम पंचायत सचिव, जनपद इंस्पेक्टर की उपस्थिति में सरपंच के विरुद्ध ग्राम पंचायत के 12 में से 10 पंचो ने अविश्वास प्रस्ताव पारित किया जिसके बाद जनपद एवं तहसीलदार द्वारा सरपंच को पद से हटा दिया व पंचों के बहुमत के आधार पर फुलेस्वरी बाई को सरपंच पद पर पदासीन किया गया मगर फुलेश्वरी बाई के पदासीन होने के महज एक माह 3 दिन की कालअवधि के बाद जनपद व तहसील के अधिकारियो से सरपंच निर्मला देवी के पति महेंद्र सिंह द्वारा साठगाठ कर पुनः सरपंच पद पर काबिज करा दिया गया, जबकि ग्राम पंचायत के 10 पंचो ने अविश्वास प्रस्ताव पारित किया था जिसके बाद उनके बिना सहमति पत्र के तहसील व जनपद के अधिकारियो द्वारा केवटाडीह टांगर सरपंच पद पर निर्मला देवी को पुनः पदासीन किया जाना सीधा-सीधा अधिकारियो व सरपंच पति महेंद्र सिंह की आपसी लेनदेन की ओर ईशारा कर रहा है| सरपंच निर्मला देवी राय व पति महेंद्र सिंह राय के काले कारनामो के पुख्ता दस्तावेजो के साथ केवटाडीह टांगर के ग्रामीणों व पंचो ने लोकायुक्त से मुलाकात कर कार्यवाही किये जाने की मांग की जिसमे दुखी राम यादव, मनसुख लाल साहू, फिरबाई, चमेलीबाई, फुलेश्वरी बाई, बुन्दराम, सुरेश, शीतल प्रसाद उपसरपंच, शांति बाई, सुखबाई, गौरी बाई सहित कई ग्रामीण शामिल थे|

ग्रामीणों के नलकूप पर किया सरपंचपति ने कब्ज़ा :- शासन द्वारा पानी की समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों को राहत दिलाने सांसद मद से ग्राम पंचायत में नलकूप खनन का आदेश जारी किया गया जिसमे सरपंच पति महेंद्र सिंह द्वारा विभाग के अधिकारियो से साठ गाठ कर इस योजना के तहत हो रहे नलकूप खनन को अपने ही घर पर कराया जबकि यह नलकूप ग्रामीणों के उपयोग के लिए सांसद मद से कराया गया था जिसका उपयोग सरपंच द्वारा अपने निजी हितो के लिए किया जा रहा है| इस मामले की जांच में सरपंच पति के काले कारनामो का सच सामने आने की बात ग्रामीणों द्वारा कही जा रही है|

ग्रामीणों की शिकायत जांच में सही पाया गया:- ग्राम पंचायत केवटाडीह टांगर के सरपंच द्वारा शौचालय निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य योजनाओ में जमकर भ्रष्टाचार किये जाने सहित  ग्राम पंचायत की मूलभूत राशि का 14 वित्त की राशि का सरपंच द्वारा दुरुपयोग की शिकायत ग्रामीणों ने जनपद सहित तहसील के अधिकारियो से किया था गया जिसके बाद जांच के लिए ग्राम पहुचे जांच अधिकारीयो ने जांच-पड़ताल की जिसमे सरपंच द्वारा राशि का दुरूपयोग किये जाने की शिकायत सही पायी मगर उच्चपदस्थ पहुच के चलते सरपंच पर कार्यवाही नहीं हो रही है|

सरपंच पद पर कब्ज़ा करने सरपंच पति ने की जनपद के अधिकारियो के साथ कूटरचना :- ग्राम पंचायत केवटाडीह टांगर के सरपंच निर्मला देवी के पति महेंद्र सिंह द्वारा सरपंच पद से अविश्वास प्रस्ताव के तहत पद से हटाये जाने को लेकर जनपद व तहसील के अधिकारी के साथ कूटरचना कर जिस तिथि को चुनाव की प्रक्रिया की जानी थी किसी कारणवश उस तिथि को चुनाव ना करा आगे की तिथि में कराया गया जिससे चुनाव प्रक्रिया अवैध हो सके| इस मामले में नियमत: अविश्वास प्रस्ताव के 15 दिनों के अन्दर ही चुनाव कराना अनिवार्य किया गया है जबकि केवटाडीह टांगर के सरपंच का चुनाव तिथि जनपद व तहसील के अधिकारियो द्वारा ही आगे बढ़ायी गयी थी|

error: Content is protected !!