आज के भारत में युवाओं की भूमिका सराहनीय : मुकुल कानिटकर

०० डॉ.सीवी रमन विश्वविद्यालय में भारत युवा स्वप्नपर व्याख्यान का आयोजन

०० कुलाधिपति संतोष चौबे ने किया देश के युवाओं को भारत देश को विश्व गुरु बनाने का आह्वान

कोटा| आज का भारत युवा स्वप्न के व्याख्यान में वक्तव्य देने पहुंचे अखिल भारतीय संगठन मंत्री भारतीय शिक्षा मंडल के मुकुल कानिटकर में डॉ.सीवी रमन यूनिवर्सिटी में अपना संबोधन व्यक्त किया।

शरद पूर्णिमा के अवसर पर डॉ.सीवी रमन यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित व्याख्यान आज का भारत युवा स्वप्न के अवसर पर पहुंचे अखिल भारतीय संगठन मंत्री भारतीय शिक्षा मंडल के मुख्य वक्ता मुकुल कानिटकर द्वारा आज की युवा पीढ़ी के बारे में वक्तव्य दिया गया आज के भारत में युवाओं की भूमिका को सराहा बीच-बीच में उन्होंने ए पी जे अब्दुल कलाम रामप्रसाद बिस्मिल सुभाष चंद्र बोस भगत सिंह का भी जिक्र किया उन्होंने भारत की युवा पीढ़ी से भारत देश को विश्व गुरु बनाने में अहम भूमिका निभाने की बात कही साथ ही आजादी के पहले युवाओं में जोश जज्बा देश के प्रति था उसी जज्बे को वर्तमान पीढ़ी को अपनाने की बात कही साथ ही डॉक्टर सी वी रमन यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति और प्रख्यात लेखक तथा संस्कृति कर्मी संतोष चौबे जी ने भी रमन यूनिवर्सिटी के युवाओं के साथ देश के युवाओं को भारत देश को विश्व गुरु बनाने का आह्वान किया इस दौरान डॉ.सी. वी.रमन यूनिवर्सिटी के कुलपति आर.पी.दुबे द्वारा भी कार्यक्रम को संबोधित किया गया वह कार्यक्रम का समापन भी कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ राजभाषा के अध्यक्ष प्रोफेसर विनय पाठक के साथ भारी संख्या में डॉ.सी. वी. रमन यूनिवर्सिटी के छात्र छात्राएं व कोटा नगर के जनप्रतिनिधि मीडियाकर्मी भी शामिल हुए।

error: Content is protected !!